हंदवाड़ा सेना के कैंप हमले में तीन 'चरमपंथी' मारे गए

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption भारतीय सुरक्षा बल का एक जवान (फ़ाइल)

भारत प्रशासित जम्मू-कश्मीर के हंदवाड़ा में सेना के कैंप पर गुरुवार तड़के हुए हमले के बाद हुई कार्रवाई में तीन चरमपंथियों की मौत हो गई है.

भारतीय सेना के मुताबिक़ चरमपंथियों से तीन हथियार बरामद किए गए हैं.

भारतीय सेना ने एक ट्वीट के ज़रिए बताया है कि पाकिस्तान ने बुधवार को सुंदरबनी और मेंढर सेक्टर में संघर्ष विराम का उल्लंघन किया. इसका भारतीय सेना ने कड़ाई से जवाब दिया.

उधर पाकिस्तानी सेना ने कहा है कि भारतीय सेना ने उसके इलाक़े में बुधवार दोपहर से देर रात तक गोलीबारी की.

समाचार एजेंसी पीटीआई ने सेना के एक अधिकारी के हवाले से कहा है, ''सुबह क़रीब पांच बजे कुपवाड़ा ज़िले के लांगेट में मौजूद सेना के कैंप पर फ़ायरिंग हुई जिसका सेना के सतर्क जवानों ने करारा जवाब दिया.''

अधिकारी ने कहा है कि सेना के सतर्क जवानों ने हमले को विफल कर दिया. उन्होंने बताया कि इलाक़े में सघन तलाशी अभियान चलाया जा रहा है.

पीटीआई ने पुलिस के हवाले से कहा है कि ये एक चरमपंथी हमला है.

इमेज कॉपीरइट AFP

उड़ी में सेना के कैंप पर 18 सितंबर को हुए आतंकवादी हमले के बाद से भारत प्रशासित कश्मीर में सेना के कैंप यह दूसरा हमला है.

सोमवार सुबह बारामूला में सेना के एक कैंप पर हमला हुआ था. इसमें एक जवान की मौत हो गई थी और एक घायल हो गया था.

उड़ी हमले के बाद से भारत और पाकिस्तान के रिश्तों में तनाव बना हुआ है.

पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर के मुज़फ़्फ़राबाद में मौज़ूद पत्रकार औरंगज़ेब जर्राल के मुताबिक़ भारतीय सेना ने बुधवार दोहपर बाद से सीमा पार से पाकिस्तानी चौकियों और रिहायशी इलाकों में मशीनगनों से गोलीबारी की और मोर्टार दाग़े.

इमेज कॉपीरइट EPA

इस गोलाबारी में एक व्यक्ति के मारे जाने और एक महिला के जख़्मी होने की ख़़बर है.

पाकिस्तानी सेना के एक बयान के मुताबिक़ भारत ने बिना किसी उकसावे के इफ़्तिख़ाराबाद, कोटली और केल सेक्टर में फ़ायरिंग की. इसके जवाब में पाकिस्तानी सैनिकों ने भी गोलीबारी की. यह गोलीबारी बुधवार देर रात तक जारी रही.