गोल्डमैन सैक्स को ज़बर्दस्त मुनाफ़ा

गोल्डमैन सैक्स का मुख्यालय
Image caption कंपनी ने कर्मचारियों को बोनस देने का फ़ैसला दिया है

मंदी की शुरुआत में बुरी तरह चरमरा गए अमरीकी बैंक गोल्डमैन सैक्स को दोबारा मुनाफ़े में लौट आया है.

बैंक ने इस वर्ष अप्रैल से जून के बीच की तिमाही में तीन अरब 44 करोड़ डॉलर का शुद्ध लाभ अर्जित किया है.

बैंक का कहना है कि शेयर बाज़ार में उठा-पटक थमने, दुनिया भर के शेयर बाज़ारों में तेज़ी आने, कई कंपनियों के राइट्स इश्यू (अधिकार पत्र) ख़रीदने और कंपनियों के विलय-बिक्री में शामिल होने से उसे फ़ायदा मिला.

बैंक ने छह अरब 65 करोड़ रूपए अपने कर्मचारियों के वेतन और बोनस के लिए अलग रखा है. औसत के हिसाब से हर कर्मचारी के लिए यह लगभग ढाई लाख डॉलर बैठता है.

गोल्डमैन सैक्स ने हाल ही में सरकार से प्रोत्साहन पैकेज के तहत मिले दस अरब डॉलर का कर्ज वापस किया है.

कुछ लोगों ने कर्मचारियों को बोनस देने और आर्थिक सुस्ती के तुरंत बाद इतना मुनाफ़ा अर्जित करने पर सवाल उठाए हैं.

लेकिन वित्तीय मामलों के जानकार विलियम स्मिथ कहते हैं, "गोल्डमैन को जश्न मनाना चाहिए. इन नाज़ुक क्षणों में भी बैंक ने पैसा कमाया."

गोल्डमैन सैक्स को अप्रैल से जून के बीच लगभग 14 अरब डॉलर की आय हुई जो इससे पिछली तिमाही से 47 फ़ीसदी ज़्यादा है.

छह महीने पहले पहली बार गोल्डमैन ने तिमाही नतीजों में घाटा दिखाया था.

संबंधित समाचार