पांव पसारेगा प्लेब्वॉय

प्लेब्वॉय पत्रिका
Image caption प्लेब्वॉय पत्रिका भारत में बिकती है लेकिन अब वो और सामान बेचना चाहते हैं.

दुनिया भर में वयस्कों की मशहूर पत्रिका 'प्लेब्वॉय' भारत में अपने पाँव फैलाना चाहती है और साल के अंत तक इस ब्रांड के जूते चप्पल और अन्य सामान भी बिकने वाले हैं.

प्लेब्वॉय का मुख्यालय शिकागो में है और इस साल प्लेब्वॉय ने भारत में पुरूषों के लिए इत्र बेचने की शुरुआत की है. अब प्लेब्वॉय ने भारत ने कुछ सहयोगियों के साथ समझौते किए हैं जिसके तहत उनके अन्य सामान भी भारत में बिकेंगे.

कंपनी के कार्यकारी उपाध्यक्ष और ग्लोबल लाइसेंसिंग के अध्यक्ष एलेक्स वाइक्स का कहना था, '' इस तरह के समझौतों के ज़रिए हम ऐसे सहयोगियों की तलाश कर रहे हैं जो सामान बनाना जानते हों और उन्हें खुदरा बिक्री एवं डिस्ट्रीब्यूशन का अनुभव हो.''

वाइक्स का कहना था कि पत्रिका भले ही वयस्कों के लिए हो लेकिन इस ब्रांड के अन्य सामान लोगों में लोकप्रिय है और वो चाहते हैं कि भारत जैसे और बाज़ारों में बढ़े.

उनका कहना था, '' भारत न केवल बहुत लोगों का देश है बल्कि यहां उपभोक्ता भी बढ़ रहे हैं और युवा वर्ग हमारा वर्ग है इसलिए हमें भारत के बाज़ार में रुचि है.''

इस वर्ष अप्रैल में प्लेब्वॉय ने भारत में पुरुषों के लिए कई किस्म के इत्र हॉलीवुड प्लेब्वॉय, मालिबू प्लेब्वॉय, मियामी प्लेब्वॉय और वेगास प्लेब्वॉय लांच किए हैं.

वैसे इस साल की शुरुआत में ब्रांड को क़रीब आठ मिलियन डॉलर का नुकसान हुआ था क्योंकि उनके प्रिंट और टेलीविज़न कार्यक्रमों की बिक्री में कमी आई थी.