भारतीय शेयर बाज़ार में भारी गिरावट

शेयर बाज़ार
Image caption पिछले कुछ दिनों में शेयर बाज़ार में लगातार गिरावट देखी गई है

भारतीय शेयर बाजारों में मंगलवार को जोरदार गिरावट देखने को मिली.

विशेषज्ञों का मानना है कि यूरोपीय बाज़ारों में गिरावट के मद्देनज़र भारतीय शेयर बाज़ारों में निवेशकों ने मुनाफ़ा वसूली की.

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) सेंसेक्स में 491 अंकों की गिरावट के साथ 15,405 पर बंद हुआ. दूसरी ओर नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के निफ़्टी सूचकांक में 148 अंकों की गिरावट रही और ये 4,564 पर बंद हुआ.

बीएसई के मिडकैप और स्मॉलकैप इंडेक्स 3.74 और 4.50 फ़ीसदी की गिरावट के साथ बंद हुए.

सुजलॉन एनर्जी, हिंडाल्को इंडस्ट्रीज़, यूनिटेक, डीएलएफ़ और रिलायंस कैपिटल में भारी गिरावट देखी गई.

वैसे पिछले कुछ दिनों से सेंसेक्स धीरे धीरे ऊपर चढ़ रहा था और पिछले कुछ दिनों में बाज़ार 17 हज़ार के स्तर पर पहुँच गया था.

उल्लेखनीय है कि क़रीब दो वर्ष पहले सेंसेक्स 21 हज़ार तक पहुंच गया था लेकिन उसके बाद धीरे धीरे बाज़ार नीचे आने लगा.

वैश्विक मंदी के कारण एक समय बाज़ार आठ हज़ार के आंकड़े तक पहुंच गया था.

लेकिन पिछले चार-पांच महीनों में इसमें धीरे धीरे सुधार होता जा रहा था. हालांकि विशेषज्ञ इसे स्थाई नहीं मान रहे थे.

संबंधित समाचार