ओबामा की बैंकों से वसूली की योजना

Image caption ओबामा ने बैकों को लेकर नए क़दमों की घोषणा की है

अमरीकी राष्ट्रपति ओबामा ने अमरीकी बैंकों को संकट से निकालने के लिए दी गई आर्थिक सहायता को वापस लेने के क़दमों की घोषणा की है.

इनके अनुसार जिन बैंकों के पास पाँच अरब डॉलर से ज्यादा की संपदा है, वो अगले 10 वर्षों तक अपनी बैलेंसशीट के अनुसार एक राशि अदा करेंगे.

ओबामा का कहना था कि उनका मकसद 117 अरब डॉलर की राशि वसूल करना है जो अमरीकी करदाता ने अदा की थी.

उनका कहना था कि उन्होंने ये क़दम बैंकों के भारी मुनाफ़े और अधिकारियों को भारी बोनस देने के बाद उठाया है.

इसके पहले भी बराक ओबामा ने अमरीका के बड़े बैंकों को कहा था कि बैकों को आर्थिक मंदी से उबारने का बोझ उठाना पड़ेगा.

उल्लेखनीय है कि अभी कुछ समय पहले सिटी ग्रुप ने घोषणा की थी कि वह वक़्त से पहले ही सरकार का 20 अरब डॉलर का क़र्ज़ अदा कर रहा है.

इससे एक संदेश यह गया कि बैंक अब आर्थिक तंगी से बाहर निकल रहे हैं और दूसरा यह कि वह सरकार के आर्थिक चंगुल से भी बाहर निकलना चाह रहे हैं.

ग़ौरतलब है कि अमरीकी फ़ेडरल रिज़र्व ने पिछले साल बैंकिंग प्रणाली के लिए बड़ी वित्तीय सहायता प्रदान की थी.

संबंधित समाचार