क़ीमतों से अछूते नहीं रह सकते: मनमोहन

मनमोहन सिंह
Image caption मनमोहन सिंह ने कहा कि खाद्य पदार्थों की आपूर्ति बढ़ाने की ज़रूरत है

भारत के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने दिल्ली में राज्यों के मुख्य सचिवों की बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर होने वाली माँग और आपूर्ति की खींचतान से अपने आपको पूरी तरह अछूता रखना संभव नहीं है.

उनका कहना था कि राज्य सरकारों को खाद्य वस्तुओं का उत्पादन बढ़ाने और ज़रूरी सामान की कमी से निपटने के लिए उचित रणनीति तैयार करनी चाहिए.

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने सोमवार को राज्य सरकारों से खाद्य वस्तुओं का उत्पादन बढ़ाने और जरूरी जिंसों की आपूर्ति की कमी से निपटने को कहा.

उन्होंने राज्यों को इस संबंध में हर संभव सहायता देने का आश्वासन भी दिया.

उल्लेखनीय है कि खाद्य पदार्थों की कीमतों में बढोत्तरी को लेकर मनमोहन सरकार और विशेषकर कृषि मंत्री शरद पवार की कड़ी आलोचना हो रही है.

मनमोहन सिंह का कहना था कि लोगों की सरकार से उम्मीदें बढ़ रही हैं. यही वजह है कि पिछले दो वर्ष में खाद्य सुरक्षा और क़ीमतों को नियंत्रित करने का मामला प्रमुख मुद्दा बन गया है. प्रधानमंत्री ने कहा पिछले कुछ समय से यह ग़लत धारणा रही है कि खाद्य वस्तुओं की उपलब्धता पर्याप्त है और चिंता जैसी कोई बात नहीं है.

उन्होंने कहा कि बढ़ती जनसंख्या और लोगों के उच्च जीवन स्तर को देखते हुए खाद्य वस्तुओं की आपूर्ति बढ़ाने की ज़रूरत है.

संबंधित समाचार