सेंसेक्स 175 अंक चढ़ा

बीएसई बिल्डिंग
Image caption वित्त मंत्री के बजट भाषण के साथ ऊपर-नीचे होता रहा बाज़ार.

भारत के वित्त मंत्री प्रणब मुखर्जी से कई तरह की उम्मीदें लगाए बैठा शेयर बाज़ार शुक्रवार को बढ़त के साथ खुला और बंद हुआ.

बाम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का सूचकांक शुक्रवार सुबह 54 अंक की बढ़त के साथ 16,318 पर खुला.

वित्त मंत्री ने शुक्रवार को लोकसभा में साल 2010-11 का बजट प्रस्ताव पेश किया.

इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज़ का निफ़्टी भी 19 अंक की तेज़ी दिखाते हुए 4878 पर खुला और 62.55 अंक की तेज़ी दिखाते हुए 4922 पर बंद हुआ.

बीएसई का सूचकांक 175.35 अंक बढ़कर 16,429.55 अंक पर बंद हुआ.

वित्त मंत्री ने भारतीय समयानुसार 11 बजे बजट भाषण पढ़ना शुरू किया और 11 बजकर 14 मिनट पर बीएसई का सूचकांक क़रीब 102 अंक की बढ़त दिखाता हुआ 16,356 अंक पर था.

उतार-चढ़ाव

दोपहर 12 बजे बीएसई का सूचकांक 82.61 अंक की बढ़त दिखाते हुए 16336 पर था और दोपहर साढ़े बारह बजे यह 299 अंक की बढ़त के साथ 16,553 पर पहुँच गया.

इस दौरान एक बजे बीएसई के सूचकांक ने 408 अंक की तेज़ी दिखाते हुए 16,662 अंक की ऊंचाई को छू लिया था.

शुक्रवार को कारोबार के दौरान बीएसई के मिडकैप सूचकांक में 1.43 फ़ीसदी, स्माल कैप के सूचकांक में 1-04 फ़ीसदी, बीएसई-500 के सूचकांक में 1.33 फ़ीसदी, ऑटो सेक्टर के सूचकांक में 5.10 और धातु क्षेत्र के सूचकांक में 2.52 फ़ीसदी की बढ़ोतरी देखी गई.

कारोबार के दौरान केवल एफ़एमसीजी ही एक ऐसा क्षेत्र रहा जिसमें 2.18 फ़ीसदी की गिरावट देखी गईं.

बीएसई में सूचिबद्ध कंपनियों में आईसीआईसीआई बैंक, रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड, स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया, एल एंड टी, टाटा मोटर्स, स्टरलाइट और हिंडाल्को के शेयर फ़ायदे में बंद हुए.

बाज़ार विश्लेषकों का मानना है कि शुक्रवार को बाज़ार का उतार-चढ़ाव वित्त मंत्री के बजट भाषण के साथ-साथ उपर-नीचे हुआ.बाजार पर पर दुनिया के अन्य बाज़ारों का असर बहुत कम देखने को मिला.

संबंधित समाचार