हैदराबाद में एविएशन प्रदर्शनी

एयरबस का मॉडल
Image caption एयरबस और बोइंग जैसी कुछ कंपनियाँ इस प्रदर्शनी के बाद अपने भारतीय ग्राहकों को विमान भी सौपेंगे

हैदराबाद के बेगमपेट विमानतल पर दुनिया भर की दो सौ से अधिक विमान कंपनियाँ एक प्रदर्शनी कर रही हैं.

इंडियन एविएशन-2010 के नाम की इस प्रदर्शनी में 40 विमान और सैकड़ों अन्य उत्पाद प्रदर्शित किए गए हैं.

तीन से सात मार्च तक चलने वाली इस प्रदर्शनी में 45 अमरीकी कंपनियाँ हिस्सा ले रही हैं.

बोइंग से लेकर एयरबस तक और बेल, जीई एविएशन से लेकर गल्फ़ स्ट्रीम तक दुनिया की लगभग सभी नामी कंपनियाँ इसका हिस्सा हैं.

इस बार फ़्रांस इस प्रदर्शनी के लिए साझीदार देश है.

इससे पहले वर्ष 2008 में पहली बार ऐसी प्रदर्शनी का आयोजन हुआ था और तब अमरीका इसका साझीदार देश था.

उम्मीद

भारत सरकार और भारतीय उद्योग एवं व्यापार महासंघ (फ़िक्की) ने इसका आयोजन किया है.

इस प्रदर्शनी में पहली बार रूस के विमान एएन-148 को प्रदर्शित किया गया है.

क़तर एयरवेज़ से लेकर एयर इंडिया तक कई देशों की एयरलाइनें भी इसका हिस्सा हैं.

अमरीकी पैवेलियन के उद्घाटन के अवसर पर बोइंग कंपनी के भारत के प्रमुख दिनेश केसकर ने कहा, "इस समय हालात 2008 की तुलना में बेहतर है इसलिए हम यहाँ बेहतर व्यवसाय की उम्मीद कर रहे हैं."

भारत में अमरीका के राजदूत तिमोथी जे रोमर ने कहा, "एविएशन उद्योग के लिए इस समय भारत में ज़बरदस्त अवसर है."

चेक गणराज्य, जर्मनी, रूस, नीदरलैंड्स सहित कई महत्वपूर्ण देश इस प्रदर्शनी में हिस्सा ले रहे हैं.

आम जनता के लिए यह प्रदर्शनी छह और सात मार्च को खुली रहेगी.

संबंधित समाचार