हड़ताल से परेशान विमान यात्री

ब्रिटिश एयरवेज
Image caption चालक दल के सदस्य हड़ताल को सफल बता रहे हैं जबकि कंपनी ने इसे खारिज किया है

ब्रिटिश एयवेज़ के चालक दल के सदस्यों की हड़ताल की वजह से हज़ारों यात्रियों को समस्या का सामना करना पड़ रहा है. सोमवार को हड़ताल का तीसरा दिन था.

चालक दल के सदस्यों के संघ यूनाइट यूनिट ने कहा कि रविवार को 2200 केबिन कर्मचारियों में से क़रीब 300 ही काम पर गए.

लेकिन ब्रिटिश एयवेज़ का कहना कि गैटविक एयरपोर्ट पर क़रीब 98 फ़ीसदी और हीथ्रो एयरपोर्ट पर आधे से ज़्यादा कर्मचारी काम पर आए.

इस हड़ताल का असर सोमवार को भी देखने को मिला. हलांकि ब्रिटिश एयवेज़ का कहना है कि बड़ी संख्या में कर्मचारी इस हड़ताल की अनदेखी कर रहें हैं.

कंपनी ने मुसाफ़िरों को सलाह दी है कि अतिरिक्त फ्लाइट की जानकारी के लिए वेबसाइट देखें.

इस हड़ताल से ब्रिटिश एयरवेज़ को क़रीब 700 करोड़ रुपए के नुक़सान होने की आशंका है. उड़ानें रद्द होने के डर से यात्री टिकट नहीं ख़रीद रहे हैं. इससे और ज़्यादा नुक़सान की संभवाना है.

यूनाइट यूनिट का कहना है कि हड़ताल को पूर्ण समर्थन मिल रहा है जिसका असर हीथ्रो एयरपोर्ट पर देखा जा सकता है. जहां 140 हवाई जहाज़ें खड़ी हैं और ये जहाज़ें उड़ान नहीं भर रही हैं.

असर

यूनाइट यूनिट ने इस मतभेद को सुलझाने के लिए कंपनी के बोर्ड से अपील की है.

ब्रिटिश एयरवेज़ के अध्यक्ष ने अतिरिक्त महासचिव टोनी वूडली को बुला कर कहा कि वो “अपनी ज़िम्मेदारी को गंभीरता से लें और समझौते पर हो रही बातचीत को फिर से शुरू करें.”

यूनाइट यूनिट के एक सदस्य डेरेक सिंपसन का कहना है कि अगर बातचीत नहीं होती है तो उन लोगों के पास दूसरी बार हड़ताल पर जाने के अलावा दूसरा विकल्प भी नहीं है.

उन्होंने कहा, “अगर इस सप्ताह हमलोगों की बातचीत होती है और कुछ अच्छा निर्णय लिया जाता है तो ये सारा मामला ख़त्म हो जाएगा.”

चालक दल के सदस्य बेहतर वेतन और काम की स्थितियों में सुधार की माँग कर रहे हैं. चालक दल के सदस्यों ने 27 मार्च से फिर चार दिनों के हड़ताल की घोषणा की है.

संबंधित समाचार