भारती एयरटेल ने अफ़्रीका में पाँव पसारा

सुनील मित्तल (फ़ाइल फ़ोटो)
Image caption सुनील मित्तल ने इसे बड़ी कामयाबी बताया है.

भारत में मोबाइल सेवा देने वाली नंबर एक कंपनी भारतीय एयरटेल ने अफ़्रीकी देशों में पाँव पसारा है.

एयरटेल ने कुवैत की दूरसंचार कंपनी ज़ैन का कई अफ़्रीकी देशों में मोबाइल कारोबार दस अरब 70 करोड़ डॉलर में ख़रीद लिया है.

इसी के साथ कंपनी दुनिया की पाँचवीं सबसे बड़ी मोबाइल कंपनी बन गई है.

साथ ही यह सौदा भारतीय कॉरपोरेट जगत के इतिहास का दूसरा सबसे बड़ा सौदा है.

भारती के चेयरमैन सुनील भारती मित्तल ने ई-मेल से दिए अपने बयान में कहा है, "वैश्विक दूरसंचार उद्योग के लिए यह समझौता मील का पत्थर है. हम उम्मीदों और अवसरों से भरे महादेश में जा रहे हैं."

उन्होंने कहा, "एयरटेल सही मायनों में ग्लोबल टेलीकॉम कंपनी बन कर उभरेगी. दुनिया के 18 देशों में हमारा कारोबार होगा और हम स्तरीय बहुराष्ट्रीय कंपनी बनने की ओर अग्रसर होंगे."

भारती पहले भी दक्षिण अफ़्रीकी कंपनी एमटीएन के अधिग्रहण की कोशिश कर अफ़्रीकी देशों में घुसने की कोशिश कर चुकी है लेकिन अधिग्रहण के प्रयास सफल नहीं हो पाए थे.

इस सौदे के तहत एयरटेल ने ज़ैन समूह के 15 अफ़्रीकी देशों में फैले कारोबार को ख़रीद लिया है. इनमें से दस देशों में ज़ैन नंबर वन कंपनी है जबकि चार अन्य देशों में वह दूसरे नंबर पर है.

संबंधित समाचार