गोल्डमैन सैक्स ने किया बचाव

गोल्डमैन सैक्स

दुनिया के सबसे ताक़तवर निवेश बैंक गोल्डमैन सैक्स ने इन आरोपों का खंडन किया है कि उसने निवेशकों के साथ धोखाधड़ी की और अमरीका के आर्थिक संकट को बढ़ाने में भूमिका निभाई.

अमरीकी सीनेट कमेटी ने बैंक के बहुत से अधिकारियों से 11 घंटों से भी अधिक समय तक पूछताछ की है.

लॉयड ब्लैंकफ़ेन और दूसरे अधिकारियों पर आरोप हैं कि उन्होंने यह प्रचारित करके आर्थिक संकट को और बढ़ा दिया कि उनके अपने कुछ निवेश उत्पाद विफल होने वाले हैं.

ब्लैंकफ़ेन ने कहा कि उनका बैंक भरोसे पर चलता है और यदि उनके ग्राहकों का भरोसा टूट गया तो बैंक चल नहीं सकेगा.

गोल्डमैन सैक्स के ख़िलाफ़ यह सुनवाई ऐसे समय में हो रही है जब अमरीका अपनी वित्तीय संस्थाओं के लिए 1930 के बाद से अब तक का सबसे बड़ा सुधार कार्यक्रम लागू करने जा रहा है.

बचाव

सुनवाई के दौरान विरोध प्रदर्शन

बैंक के अधिकारियों ने कहा है कि वे ग्राहकों का भरोसा तोड़ना नहीं चाहते

जब इस मामले की सुनवाई चल रही थी तो कमरा विरोध प्रदर्शन करने वालों से भरा हुआ था. कुछ लोगों ने क़ैदियों जैसे कपड़े पहन रखे थे तो ज़्यादातर लोगों ने गोल्डमैन सैक्स के ख़िलाफ़ नारे लिखी हुई पट्टियाँ उठा रखी थीं.

पूछताछ के केंद्र में यह आरोप ही था कि पहले तो गोल्डमैन सैक्स ने ग्राहकों को मॉर्गेज से जु़डी कुछ योजनाएँ बेचीं और फिर यह प्रचारित किया कि वे विफल होने वाली हैं.

लेकिन लॉयड ब्लैकफ़ेन ने इसका खंडन किया.

हालांकि मॉर्गेज के पूर्व प्रमुख डेनियल स्पार्क्स ने इस बात के लिए पैनल से माफ़ी माँगी कि बैंक ने कुछ कमज़ोर फ़ैसले लिए.

बैंक ने कहा है कि उन पर लगाए गए सारे आरोप झूठे हैं और वे अदालत में अपना बचाव कर सकते हैं.

इस सुनवाई के दौरान हालांकि ग्रीस के आर्थिक संकट की वजह से दुनिया भर के शेयर बाज़ार धराशाई हो रहे थे लेकिन गोल्डमैन सैक्स के शेयरों में 0.7 प्रतिशत का उछाल आया.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.