तीन साल बाद मुनाफ़े में जनरल मोटर्स

जेनरल मोटर्स मुख्यालय

अमरीकी कार निर्माता कंपनी जनरल मोटर्स ने पिछले तीन साल में पहली बार मुनाफ़ा होने की घोषणा की है.

जीएम ने इस वर्ष जनवरी से मार्च की तिमाही में साढ़े 86 करोड़ डॉलर का लाभ कमाया है.

पिछले साल इसी अवधि में कंपनी को छह अरब डॉलर का घाटा हुआ था.

आर्थिक मंदी के दौर में जीएम की हालत बहुत ख़राब हो गई थी और पिछले साल कंपनी ने स्वयं को दीवालिया घोषित कर सरकारी शरण में जाने के लिए आवेदन किया था.

अमरीका सरकार ने तब जीएम को 50 अरब डॉलर का कर्ज़ दिया जिससे कंपनी खड़ी रह पाई. कनाडा सरकार ने भी जीएम को कर्ज़ दिया था.

जीएम ने इसके बाद बड़े पैमाने पर ख़र्चों में कटौती के क़दम उठाए.

उपाय

कंपनी ने घाटे पर क़ाबू पाने के लिए अपने 14 कारखाने बंद कर दिए और अमरीका में 65,000 से अधिक कर्मचारियों की छँटनी की.

साथ ही कंपनी ने – हमर, साब और सैटर्न – जैसी गाड़ियों को या तो दूसरी कंपनियों को बेच दिया या उनका निर्माण बंद कर दिया क्योंकि उनसे जीएम को कोई फ़ायदा नहीं हो रहा था.

कंपनी का कहना है कि ख़र्चे घटाने के इन उपायों और सरकारी कर्ज़ के कारण ही कंपनी अब लाभ कमा सकी है.

जीएम ने पिछले महीने अमरीका और कनाडा की सरकारों को लगभग आठ अरब डॉलर का कर्ज़ लौटा दिया था.

लेकिन जीएम को अभी भी अमरीका सरकार को लगभग 45 अरब डॉलर और कनाडा को आठ अरब डॉलर लौटाना है.

संबंधित समाचार