तेल रिसाव मामले की जाँच

Image caption तेल रिसने से कई पक्षियों पर असर पड़ रहा है

अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने मेक्सिको की खाड़ी में तेल रिसने के मामले की जाँच के लिए गठित आयोग की अध्यक्षता करने वाले दो सदस्यों के नाम बताए हैं.

पूर्व डेमोक्रेटिक सिनेटर बॉब ग्रेहम और पूर्व रिपब्लिकन नेता विलियम रेली आयोग की अध्यक्षता करेंगे.

इस पूरे मामले में सरकार की प्रतिक्रिया की काफ़ी आलोचना हुई है.

बराक ओबामा ने कहा कि वे सुनिश्चित करना चाहते हैं कि ऐसा हादसा दोबारा कभी न हो. आयोग के पास रिपोर्ट बनाने के लिए छह महीने का वक़्त है.

अप्रैल में बीपी के तेल कुएँ में आग लगने के बाद वहाँ विस्फोट हुआ था और तब से तेल रिसाव हो रहा है.इसमें 11 लोग मारे गए थे और लाखों गैलन तेल समुद्र में फैल गया.

बीपी को इसके लिए लोगों का काफ़ी ग़ुस्सा झेलना पड़ा है लेकिन अब सरकार के प्रति भी नाराज़गी बढ़ती जा रही है.

बराक ओबामा ने कहा है कि तेल कुँए से रिसाव के कारण प्रभावित मछुआरों और समुदायों की मदद की जा रही है.

उन्होने कहा कि सात सदस्यीय पैनल ये भी पता करेगा कि इस घटना को रोकने के लिए क्या और क़दम उठाए जा सकते थे.

मेक्सिको की खाड़ी से लगा अमरीका का तटवर्ती इलाक़ा मछलियों और पक्षियों की सैंकड़ो विशेष प्रजातियों का घर है.