अरबपतियों ने आधी संपत्ति दान में दी

Image caption क्लॉकवाइज़ (ऊपर से दाएँ)- वॉरन बफ़ेट, बिल गेट्स, सीएनएन संस्थापक टेड टर्नर, निर्देशक जॉर्ज लूकस, ऑरेकल सह संस्थापक लैरी एलिसन और न्यूयॉर्क मेयर माइकल ब्लूमबर्ग.

अमरीका के 38 अरबपतियों ने कहा है कि वे अपनी कुल संपत्ति का 50 फ़ीसदी हिस्सा दान में देंगे. ये अभियान माइक्रसॉफ़्ट के संस्थापक बिल गेट्स और निवेशक वॉरन बफ़ेट ने शुरु किया है.

इन अरबपतियों में न्यूयॉर्क के मेयर माइकल ब्लूमबर्ग, सीएनएन के संस्थापक टेड टर्नर और अधिकारी बैरी डिलर शामिल है.

‘द गिविंग प्लेज’ (The giving pledge) नाम के इस अभियान में उन सब परिवारों और व्यक्तियों के नाम हैं जिन्होंने योजना के प्रति वचनबद्धता दिखाई है.

इसकी वेबसाइट पर लिखा गया है कि ये एक नैतिक वचनबद्धता है न कि क़ानूनी अनुबंध.

अभियान जून में शुरु किया गया था जिसके तहत अमरीकी अरबपतियों को ये समझाने की कोशिश की जा रही है कि वो कम से कम 50 फ़ीसदी संपत्ति दान में दें- चाहे ज़िंदा रहते हुए या मौत के बाद.

जाने माने निवेशक और बर्कशायर हैथवे के मुख्य कार्यकारी वॉरन बफ़ेट ने एक बयान में कहा है कि काम अभी शुरु ही हुआ है लेकिन अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है.

जो लोग चैरिटी के लिए पैसा देना चाहते हैं उन्हें सार्वजनिक स्तर पर ये बात स्पष्ट करनी होगी.

भलाई के लिए

फ़िल्म निर्माता जॉर्ज लूकस और तेल निवेशक टी बून पिक्नस ने भी काफ़ी पैसा देने की घोषणा की है.

द गिविंग प्लेज अभियान से जुड़े लोगों का कहना है कि कई व्यक्तियों ने अपनी 50 फ़ीसदी से भी ज़्यादा संपत्ति देने का फ़ैसला किया है.

वॉरन बफ़ेट, बिल गेट्स और उनकी पत्नी मलिंडा ने पिछले दो वर्षों में कई अमरीकी अरबपतियों से बात की है ताकि इस अभियान को आगे बढ़ाया जा सके.

वॉरन बफ़ेट ने 2006 में अपनी 99 फ़ीसदी धनराशि बिल और मलिंडा गेट्स फ़ाउंडेशन को देने की घोषणा की थी.

फ़ॉर्ब्स पत्रिका ने मार्च में लिखा था कि वॉनर बफ़ेट की कुल संपत्ति 47 अरब डॉलर की है. जबकि दुनिया के दूसरे सबसे धनी व्यक्ति बिल गेट्स अपने फ़ाउंडेशन को 28 अरब डॉलर से ज़्यादा दे चुके हैं. फ़ॉर्ब्स के मुताबिक अमरीका में 430 अरबपति हैं.

संबंधित समाचार