भविष्य निधि पर ब्याज़ दर में वृद्धि

कर्मचारी भविष्य निधि कोष ने बुधवार को वर्ष 2010-11 के लिए भविष्य निधि पर ब्याज़ दर बढ़ाकर 9.5 प्रतिशत करने की घोषणा की है.

उल्लेखनीय है कि इस समय भविष्य निधि पर ब्याज़ दर 8.5 प्रतिशत है. इस कदम से सरकारी और निजी क्षेत्रों में काम कर रहे क़रीब पाँच करोड़ लोगों को फायदा पहुंचेगा.

समाचार एजेंसी पीटीआई ने सूत्रों के हवाले से कहा है कि कर्मचारी भविष्य निधि कोष पर ब्याज़ दर बढ़ाने का फ़ैसला भविष्य निधि के संदर्भ में नीतिगत फ़ैसले करने वाले सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टी (सीबीटी) ने की है.

हालांकि इस फैसले से सरकार को 1600 करोड़ रुपए का नुकसान होगा.

इस ट्रस्टी के प्रमुख श्रम मंत्री मल्लिकार्जुन खर्गे हैं और सीबीटी की सिफारिशें वित्त मंत्रालय को भेज दी जाएंगी.

भविष्य निधि के मामले में अधिसूचना जारी करने वाला वित्त मंत्रालय आम तौर पर सीबीटी की सिफ़ारिशें मान लेता है.

भविष्य निधि मूलत रिटायरमेंट के बाद किसी कर्मचारी के बचे हुए पैसे होते हैं. इसमें आधा पैसा कर्मचारी का होता है जबकि आधा पैसा कंपनी देती है. इस पर सरकार ब्याज़ देती है.

संबंधित समाचार