अर्थव्यस्था की स्थित ख़राब, सलाहकार का इस्तीफ़ा

बराक ओबामा
Image caption ओबामा ने लोगों से कहा है कि मंदी का दौर लंबा चल सकता है.

अमरीकी अर्थव्यवस्था के लिए लगातार निराशाजनक ख़बरें आ रही हैं. जहां सेंट्रल बैंक ने अमरीकी अर्थव्यवस्था की अत्यंत निराशावादी छवि पेश की है वहीं राष्ट्रपति ओबामा के शीर्ष आर्थिक सलाहकार ने अपने पद से इस्तीफ़ा दिया है.

पिछले तीन महीनों में तीसरे आर्थिक सलाहकार ने ओबामा की टीम छोड़ी है. व्हाइट हाउस का कहना है कि लैरी समर्स साल के अंत में अपना पद छोड़ देंगे.

लैरी समर्स अमरीकी राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था परिषद के प्रमुख रहे हैं और राष्ट्रपति ओबामा के मुख्य आर्थिक सलाहकार भी.

बीबीसी संवाददाताओं का कहना है कि अब वित्त मंत्री टिमोथी गिटनर को लेकर भी अफ़वाहों का बाज़ार गर्म है क्योंकि वो आर्थिक मामलों की टीम में एकमात्र वरिष्ठ सदस्य बचे हैं.

इससे पहले फेडरल रिज़र्व या सेंट्रल बैंक ने अर्थव्यवस्था की अत्यंत निराशावादी छवि पेश करते हुए कहा है कि देश में ब्याज़ दरें लंबे समय तक शून्य पर ही बनी रह सकती हैं.

अमरीकी अर्थव्यवस्था पिछले एक-डेढ़ वर्ष से मंदी की चपेट में है लेकिन अभी भी सेंट्रल बैंक का कहना है कि स्थिति में बहुत व्यापक सुधार नहीं हो पाया है.

सेंट्रल बैंक या फेडरल रिज़र्व का कहना है कि वो अर्थव्यवस्था को ज़रुरत पड़ने पर समर्थन देने के लिए पूर्ण रुप से तैयार है.

बैंक ने अर्थव्यवस्था की ख़राब स्थिति के लिए कई कारण गिनाए हैं जिसमें घरों का निर्माण रुकना, कर्ज़ देना और कुछ अन्य कारण दिए गए हैं.

बैंक की इस रिपोर्ट के बाद राष्ट्रपति ओबामा ने कहा है कि अमरीका के लोगों को मंदी के दौर का दर्द उम्मीद से कहीं अधिक समय तक झेलना पड़ सकता है.

संबंधित समाचार