मुक्त व्यापार क्षेत्र के लिए संधि

एपेक योकोहामा
Image caption बैठक के दौरान जापान-चीन और जापान-रूस संबंधों जैसे मुद्दों पर भी चर्चा हुई

जापान के शहर योकोहामा में जमा हुए 21 देशों के नेताओं ने मुक्त व्यापार को बढ़ावा देने के लिए एक संधि की घोषणा की है.

इस मुक्त क्षेत्र की स्थापना के साथ विश्व की तीन बड़ी अर्थव्यवस्थाओं- चीन, जापान और अमरीका के बीच व्यापार संबंध और मज़बूत हो जाएंगे.

हालांकि एशिया- पैसिफ़िक क्षेत्र में स्थित इन देशों के समूह एपेक के ज़रिये जारी विक्षप्ति में संधि से संबंधित कोई विस्तृत जानकारी नहीं दी गई है और न ही ये बताया गया है कि ये मुक्त क्षेत्र कब तक तैयार हो पाएगा.

मगर बैठक में चीन और अमरीका के बीच व्यापार असंतुलन और 'करेंसी वार' को लेकर कोई समझौता नहीं हो पाया है.

अमरीका का आरोप है कि अपने निर्यात को बढ़ावा देने के लिए चीन ने अपनी मुद्रा युआन की क़ीमत कम कर रखी है.

चीन के राष्ट्रपति हू जिंताओ ने कहा है कि चीन इस मामले में कोई कारवाई अपनी सुविधानुसार ही करेगा.

योकोहामा की बैठक के बाद एक घोषणापत्र - 'योकोहामा विज़न'जारी किया गया है.

घोषणापत्र में व्यापार और निवेश के क्षेत्र में आर्थिक मंदी के दौरान लगाई गई बाधाओं को दूर करने की बात कही गई है.

साथ ही एक 'बाज़ार निर्धारित विनिवय दर' का ज़िक्र भी इस घोषणा में है.

संबंधित समाचार