'घट रही है प्याज़ की क़ीमत'

प्याज़

वित्त मंत्री प्रणब मुखर्जी ने कहा है कि प्याज़ की आसमान छूती क़ीमतों में कमी आई है और जल्द ही स्थिति नियंत्रण में आ जाएगी.

उन्होंने कहा कि सरकार ने क़दम उठाए हैं और इसका नतीजा जल्द ही देखने को मिलेगा.

कोलकाता में पत्रकारों के साथ बातचीत में प्रणब मुखर्जी ने कहा, "प्याज़ के निर्यात पर पूरी तरह पाबंदी लगा दी गई है. जबकि आयात शुल्क हटा लिया गया है. अब तो आयातित प्याज़ बाज़ार में पहुँचना भी शुरू हो गया है."

उन्होंने कहा कि कभी-कभी कोई फल या सब्ज़ियाँ ख़ास मौसम में ही मिलती हैं और कई बार इनकी मांग और पूर्ति में अंतर भी होता है.

बढ़ोत्तरी

इस कारण उनकी क़ीमतों में बढ़ोत्तरी भी होती है.

प्रणब मुखर्जी ने कहा है कि वैसे भी क़ीमतों में बढ़ोत्तरी कई चीज़ों पर निर्भर करती है.

इस सप्ताह के शुरू में एक समय तो प्याज़ की क़ीमतें 85 रुपए प्रति किलो तक पहुँच गई थी.

ऐसा आपूर्ति में कमी के कारण हुआ.

प्याज़ के प्रमुख उत्पादक महाराष्ट्र में फसलों को हुए नुक़सान के कारण भी क़ीमतों में बढ़ोत्तरी हुई.

संबंधित समाचार