रेनॉ जानकारी लीक होने से परेशान

रेनॉ
Image caption कंपनी इस साल के अंत में कार को बाज़ार में उतारने वाली थी

फ्रांसीसी कार निर्माता कंपनी रेनॉ का कहना है कि उसकी इलेक्ट्रिक कार के बारे में गोपनीय जानकारी लीक हो जाने की वजह से उसके लिए "गंभीर ख़तरा पैदा हो गया है".

फ्रांस के वाणिज्य मंत्री एरिक बैसन ने इसे औद्योगिक जासूसी का एक गंभीर मामला क़रार देते हुए कहा है कि "देश एक तरह के आर्थिक युद्ध का सामना कर रहा है".

रेनॉ ने गोपनीय जानकारी लीक करने के संदेह में कंपनी के तीन वरिष्ठ मैनेजरों को निलंबित कर दिया है.

वाणिज्य मंत्री ने एक फ्रेंच रेडियो स्टेशन को दिए गए इंटरव्यू में कहा कि 'आर्थिक युद्ध' कोई छोटी-मोटी बात नहीं है लेकिन इस मामले की गंभीरता को देखते हुए इसे कुछ और नहीं कहा जा सकता.

उन्होंने कहा, "यह मामला इलेक्ट्रिक कार से जुड़ा हुआ है, इससे ज्यादा मैं अभी कुछ नहीं कहना चाहता."

एरिक बैसन ने सरकारी भागीदारी वाली सभी कंपनियों से कहा है कि वे अपनी सुरक्षा व्यवस्था को और मज़बूत करें.

जानकारों का कहना है कि आने वाले वर्षों में इलेक्ट्रिक कारों का ही बोलबाला होगा और सभी कंपनियाँ इस होड़ में एक दूसरे को पीछे छोड़ना चाहती हैं.

यही वजह है कि ऐसी स्थिति में औद्योगिक जासूसी के परिणाम इसका शिकार होने वाली कंपनी के लिए आर्थिक रूप से काफ़ी बुरे हो सकते हैं, ख़ास तौर पर इलेक्ट्रिक कार के मामले में क्योंकि वह बिल्कुल नई टेक्नॉलॉजी से बनाई जा रही है जिसके बारे प्रतिद्वंद्वियों के पास बहुत कम जानकारी है.

रेनॉ की पहली इलेक्ट्रिक कार फ्लूएंस ज़ेडई इस वर्ष के अंत में बाज़ार में आने वाली है, कंपनी के वरिष्ठ उपाध्यक्ष का कहना है कि जिन लोगों पर शक है वे काफ़ी महत्वपूर्ण पदों पर कार्य कर रहे थे और यह गोपनीय जानकारी बहुत कम लोगों के पास थी.

जापानी कार निर्माता कंपनी निसन रेनॉ की साझीदार है और दोनों ने मिलकर इलेक्ट्रिक कार परियोजना में काफ़ी पूंजी निवेश किया था क्योंकि कंपनी अगले दो सालों में कई इलेक्ट्रिक कारें बाज़ार में उतारने वाली थी.