अफ़वाहों की जांच हो: रिलायंस

अनिल अंबानी
Image caption अनिल अंबानी की रिलायंस एडीए के तहत कई सारी कंपनियां हैं.

अनिल अंबानी के नेतृत्व वाली रिलायंस एडीए ग्रुप ने मांग की है कि आधारहीन और जानबूझकर फैलाए गए अफ़वाहों के कारण उनकी कंपनी के शेयरों के दाम गिरे हैं और इसकी जांच होनी चाहिए.

कंपनी का कहना है कि इन अफवाहों के कारण उनकी छह कंपनियों को ढाई अरब डॉलर का नुकसान हुआ है.

बुधवार को रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर के शेयरों में तेज़ गिरावट हुई और एक समय इसमें 25 प्रतिशत गिरावट देखी गई. मार्केट बंद होते समय यह 19 प्रतिशत नीचे था.

यही हाल रिलायंस कम्युनिकेशन का भी था जिसकी क़ीमतों में 14 प्रतिशत गिरावट हुई.

ये सारी कंपनियां अनिल अंबानी की एडीए ग्रुप की हैं और समूह ने बाज़ार के रेगुलेटरों से मांग की है कि इस मामले की जांच की जाए.

हालांकि गुरुवार को रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर और रिलायंस कम्युनिकेशन के शेयरों में फिर बढ़ोतरी रही. इंफ्रास्ट्रक्चर में आठ प्रतिशत और कम्युनिकेशन में चार प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई है.

रिलायंस एडीए ने अभी किसी कंपनी या व्यक्ति विशेष पर अफ़वाह फैलाने का आरोप नहीं लगया है. हालांकि कंपनी का कहना था कि ‘मार्केट को अस्थिर करन के उद्देश्य से हमारे स्टाकों के बारे में ग़लत और आधारहीन अफवाहें फैलाई गईं.’

भारतीय शेयर बाज़ार में पिछले कई दिनों से गिरावट देखी जा रही है और बुधवार को शेयर बाज़ार सात महीने के सबसे कम स्तर पर बंद हुआ है.

संबंधित समाचार