‘सुधारों की राह पर चलता रहे भारत’

Image caption गैरी ने कहा कि भारत को विदेशी कंपनियों के लिए अपना माहौल और अपने नियमों को अनुकूल बनाना होगा.

भारत के दौरे पर आए अमरीका के वाणिज्य मंत्री गैरी लॉक ने कहा है कि भारत अगर आर्थिक सुधारों की राह पर चलता रहे तो वह 21सवीं सदी में विश्व अर्थव्यवस्था का नेतृत्व कर सकता है.

गैरी लॉक ने कहा कि भारत इसके ज़रिए अपने लोगों की ज़रूरतों को भी बेहतर ढंग से पूरा कर पाएगा.

वाणिज्य और उद्योग संगठन फिक्की के सदस्यों को संबोधित करते हुए गैरी ने कहा कि भारत ने व्यापक स्तर पर अमरीकी कपंनियों के लिए अपने दरवाज़े खोले हैं लेकिन अब भी इस क्षेत्र में बहुत कुछ किया जाना बाकी है.

गैरी लॉक, अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा के बाद भारत दौरे के बाद आए पहले कैबिनेट मंत्री हैं.

24 सदस्ययी दल के साथ भारत आए गैरी लॉक का मकसद भारत और अमरीका के के बीच व्यापार, सूचना तकनीकी के विकास, नागरिक उड्डयन, सैन्य रक्षा और असैन्य-परमाणु विकास के क्षेत्र में भागीदारी को बढ़ावा देना है.

गैरी का मानना है कि नागरिक उड्डयन और चिकित्सा जैसे क्षेत्रों में कर और बाहरी निवेश पर रोक की प्रक्रिया भले ही फिलहाल घरेलू बाज़ार को सुरक्षित रखे, लेकिन भविष्य में विदेशी निवेश और तकनीक के हस्तांतरण के लिए मुश्किलें पैदा करेगी.

भारत और अमरीका के बीच भागीदारी को ‘बराबरी की हिस्सेदारी’ करार देते हुए उन्होंने कहा कि इन मुश्किलों से बचने के लिए भारत को विदेशी कंपनियों के लिए अपना माहौल और अपने नियमों को अनुकूल बनाना होगा.

भारत और अमरीका के बीच व्यापार तेज़ी से बढ़ रहा है और 2002 से 2009 के बीच यह 4.1 अरब डॉलर से बढ़कर 16.4 अरब डॉलर यानि चार गुना हो गया है.

संबंधित समाचार