बढ़ती क़ीमतों ने बढ़ाई ग़रीबी

उत्तर कोरिया इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption दुनियाभर में महंगाई का असर पड़ा है

विश्व बैंक का कहना है कि दुनियाभर में खाद्य पदार्थों की बढ़ती क़ीमतों के कारण ग़रीबों की संख्या बढ़ रही है.

विश्व बैंक ने ताज़ा आँकड़े भी जारी किए हैं, जिनके मुताबिक़ एक साल पहले के मुक़ाबले खाद्य पदार्थों की क़ीमतों में 36 फ़ीसदी की बढ़ोत्तरी हुई है.

बैंक का कहना है कि खाद्य पदार्थों की क़ीमतों में बढ़ोत्तरी के पीछे मध्य पूर्व और उत्तरी अफ़्रीका में अस्थिरता के कारण तेल की बढ़ती क़ीमतें भी हैं.

जबकि ख़राब मौसम की वजह से कई अन्ना उत्पादक देशों में पैदावार भी प्रभावित हुई है.

प्राथमिकता

विश्व बैंक के प्रमुख रॉबर्ट ज़ोएलिक ने कहा है कि यह महत्वपूर्ण है कि खाद्य पदार्थों को प्राथमिकता दी जाए और ग़रीबों को सुरक्षा दी जाए.

क्योंकि वे अपनी कमाई का ज़्यादा हिस्सा खाद्य पदार्थों पर ख़र्च करते हैं.

अब विश्व बैंक ने इस मामले में पहल करते हुए कुछ कार्यक्रम भी शुरू किए हैं, जिनमें ग़रीबों के लिए एक पौष्टिकता कार्यक्रम भी है.

बैंक का ये भी कहना है कि वो लंबे समय के लिए कृषि पर ख़र्च को बढ़ाकर प्रति वर्ष सात अरब डॉलर करने जा रहा है.

संबंधित समाचार