टोयोटा कंपनी का मुनाफ़ा 77 फ़ीसदी कम

टोयोटा कंपनी(फ़ाइल फ़ोटो) इमेज कॉपीरइट AP
Image caption जापान भूकंप से कंपनी को बहुत बड़ा घाटा हुआ था.

जापान में इसी साल मार्च में आए भूकंप और सुनामी के बाद से पहली बार जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक़ कार कंपनी टोयोटा का मुनाफ़ा 77 फ़ीसदी कम हो गया है. भूकंप के कारण कंपनी को कल पुर्ज़े की आपूर्ति में काफ़ी दिक़्क़तों का सामना करना पड़ा था. इसके अलावा जापान की मुद्रा येन की मज़बूती के कारण भी कंपनी को नुक़सान उठाना पड़ा था.

कंपनी ने दावा किया है कि उत्पादन की बहाली के लिए किए जा रहे प्रयास आशा से अधिक तेज़ी से हो रहे हैं.

टोक्यो के बीबीसी संवाददाता रॉलेंड ब्यूर्क के अनुसार भूकंप की वजह से आशंका है कि टोयोटा दुनिया की सबसे बड़ी कार कंपनी का स्थान खो दे.

पिछले साल हुई बिक्री के हिसाब से टोयोटा दूसरी बड़ी कंपनी अमरीका की जनरल मोटर्स से थोड़ी ही आगे थी.

भूकंप

इस साल मार्च में जापान में आए भूकंप और सुनामी के कारण टोयोटा कंपनी में लाखों कार का उत्पादन नहीं हो सका क्योंकि कंपनी को इसके लिए ज़रूरी कल-पुर्ज़े नहीं मिल सके थे.

उत्पादन मे कमी के कारण मुनाफ़े में भी 77 फ़ीसदी की कमी हो गई. कंपनी का कुल मुनाफ़ा घटकर 30 करोड़ 14 लाख डॉलर हो गया है.

पूरे वित्तीय साल में कंपनी का मुनाफ़ा दोगुना हो गया था जिससे लग रहा था कि कारों मे तकनीकी ख़राबियों के कारण लाखों कारों को वापस बुलाने पर मजबूर हुई टोयोटा की हालत सुधर रही है.

टोयोटा के अध्यक्ष आकियो टोयोडा ने कहा कि कल-पूर्ज़े मिलने में आ रही कठिनाईयों को तेज़ी से दूर किया जा रहा है और उम्मीद है कि अगले महीने से सामान्य दिनों की अपेक्षा 70 फ़ीसदी उत्पादन होने लगेगा.

लेकिन आशंका है कि बिजली की सप्लाई अभी भी समस्या को बढ़ा सकती है.

फ़ुकुशिमा परमाणु संयंत्र के संकट के बाद जापान सरकार ने जापान के मध्य में स्थित हमाओका परमाणु संयंत्र को बंद करने का फ़ैसला किया है जिसके कारण बिजली के उत्पादन पर असर पड़ेगा.

यही परमाणु संयंत्र टोयोटा कंपनी के मुख्यालय और उनकी फ़ैक्ट्रियों को बिजली मुहैया कराता है.

संबंधित समाचार