अर्थव्यवस्था पर मुद्राकोष की चेतावनी

आईएमएफ़ इमेज कॉपीरइट AP
Image caption आईएमएफ़ ने जापान और अमरीका को विशेष रुप से चेतावनी दी है

अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष यानी आईएमएफ़ ने कहा कि विश्व अर्थव्यवस्था को ख़तरा बढ़ गया है.

उसने अपनी नई रिपोर्ट में कहा है कि हालांकि उसे अर्थव्यवस्था में सुधार की उम्मीद है लेकिन विकास और रोज़गार के अवसर बढ़ाने के लिए विकसित और विकासशील देशों को कड़ी नीतियाँ बनानी होंगीं.

आईएमएफ़ का कहना है कि आर्थिक विकास की दर घट रही है.

संस्था का कहना है कि हालांकि आर्थिक व्यवस्था के विकास दर घटने रफ़्तार की दर अभी बहुत धीमी है और वह उम्मीद करती है कि यह अस्थाई है लेकिन ख़तरे बढ़े हैं.

दबाव

मुद्राकोष की रिपोर्ट में कहा गया है कि यूरोप के इलाक़े में समस्याएँ बढ़ने की परिस्थितियाँ हैं और अमरीका में भी मंदी से उबरने की प्रक्रिया को धक्का लग सकता है.

उसने चेतावनी दी है कि इन समस्याओं का असर शेष दुनिया में भी दिख सकता है.

रिपोर्ट में कहा गया है कि इन समस्याओं की वजह से बैंकों और व्यावसायिक प्रतिष्ठानों के लिए कर्ज़ लेना कठिन हो सकता है और इसकी वजह से विकासशील देशों में निवेश में कटौती हो सकती है.

आईएमएफ़ ने कहा है जापान और अमरीका को सरकारी वित्तीय व्यवस्था को दुरुस्त करना होगा.

रिपोर्ट के अनुसार कुछ उभरती अर्थव्यवस्थाएँ महंगाई और परिसंपत्तियों की बढ़ती क़ीमतों की वजह से दबाव में हैं.

इसके जवाब में कुछ देशों ने ब्याज़ की दरें बढ़ाई हैं लेकिन आईएमएफ़ का कहना है कि लेकिन और लोग जितनी देर करेंगे उससे उतना ही नुक़सान है और आख़िर इसकी परिणति विकास की गति में कमी के रूप में और यहाँ तक कि मंदी के रूप में भी हो सकती है.

संबंधित समाचार