ऋण संकट से अमरीका चिंतित

बराक ओबामा इमेज कॉपीरइट AP
Image caption ओबामा देश में आए ऋण संकट से चिंतित हैं.

अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अमरीकी कांग्रेस से अपील की है कि वो देश के ऋण संकट से निपटने के लिए कोई स्थायी हल खोजें.

डेमोक्रेट और रिपब्लिकन सांसदों के बीच ऋण संकट को लेकर पाँच दिनों से आपातकालीन वार्ताएं हो रही हैं लेकिन दोनों पक्षों के बीच किसी भी प्रकार की सहमति नहीं हो सकी है.

असल में दोनों पार्टियों की आर्थिक नीतियां अलग हैं. जहां रिपब्लिकन सांसद खर्च में और अधिक कटौती की मांग कर रहे हैं वहीं डेमोक्रेट चाहते हैं कि खर्चों में कटौती न हो बल्कि कॉरपोरेटों पर अधिक टैक्स लगाकर ऋण संकट से उबरने का रास्ता निकाला जाए.

दोनों पक्षों के बीच सहमति न हो पाने के कारण क्रेडिट रेटिंग एजेंसियां अमरीका की क्रेडिट रेटिंग कम करने का संकेत भी दे रही हैं.

क्रेडिट रेटिंग एजेंसी मूडीज़ के बाद अब स्टैंडर्ड एंड पूअर ने भी चेतावनी दी है कि वो अमरीका की AAA रेटिंग को कम कर सकती है.

अमरीका की कर्ज लेने की सीमा 14.3 अरब डॉलर तक है और कांग्रेस के पास इस सीमा को बढ़ाने के लिए अभी दो अगस्त तक का समय है.

टैक्स छुपाने की जांच

इस बीच अमरीकी सरकार जानी मानी बैंकिंग कंपनी क्रेडिट सुइश की जांच कर रही है ताकि ये पताया लगाया जाए कि क्या कंपनी ने अमरीकी नागरिकों की टैक्स छुपाने में मदद की है या नहीं.

स्विस बैंक क्रेडिट सुइश ने कहा है कि उसे इस बात की जानकारी दी गई है कि उनके ख़िलाफ़ जांच हो रही है लेकिन बैंक का कहना है कि ये जांच वृहद औद्योगिक जांच का हिस्सा है.

क्रेडिट सुइश का कहना है कि वो जांच में स्विस नियमों के तहत सहयोग करेगा.

फरवरी के महीने में अमरीकी अधिकारियों ने कहा था कि क्रेडिट सुइश अमरीकी नागरिकों को अपना पैसा गुप्त बैंकों में छुपाने में मदद कर रहा है.

हाल के वर्षों में अमरीकी अधिकारियों ने कई वैश्विक बैंकों पर दबाव डाला है ताकि टैक्स छुपाने की घटनाओं पर लगाम कसी जा सके.

अमरीकी न्याय विभाग एक और स्विस बैंक यूबीएस की भी जांच कर रहा है.

अमरीका ने यूबीएस को चेतावनी भी दी है कि अगर अमरीका के टैक्स छुपाने वाले 4,450 नागरिकों के बारे में पूरी जानकारी बैंक उपलब्ध नहीं कराता तो उसके ख़िलाफ़ क़ानूनी कार्रवाई की जाएगी.

संबंधित समाचार