इटली का स्पेन से भी बुरा हाल !

सिल्विओ बर्लुस्कोनी इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption इटली के प्रधानमंत्री सिल्विओ बर्लुस्कोनी का दावा है कि देश की अर्थव्यवस्था मज़बूत है

लंदन स्थित एक शोध संस्था ने संभावना व्यक्त की है कि कर्ज़ के तले दबा इटली अपने उधार ना चुका पाए पर स्पेन शायद इस हालत से अपने आप को बचा ले जाए.

सेंटर फ़ॉर इकोनोमिक्स एंड बिज़नस रिसर्च ने कर्ज़ के तले दबे देशों की अच्छे और बुरे हालातों में परिकल्पना की है.

आर्थिक मामलों की समाचार एजेंसी ब्लूमबर्ग के मुताबिक यूरोपीय संघ में ग्रीस के बाद इटली का कर्ज़ सबसे अधिक है. इटली का 1.8 खरब यूरो का कर्ज़ ग्रीस, स्पेन, पुर्तगाल और आयरलैंड के कुल कर्ज़ से भी अधिक है.

यूरोपीय बैंकिग ऑथॉरिटी के मुताबिक स्पेन का कर्ज़ 326 अरब यूरो है और ये कर्ज़ उसे यूरोप के 90 बड़े बैंकों ने दिया है.

इस संस्था के अनुसार इटली केवल उसी सूरत में कर्ज़ समय पर चुका सकता है जबकि इसकी अर्थव्यवस्था में तगड़ा उछाल आये. इस संस्था का कहना है कि स्पेन के कर्ज़ ना चुका पाने की हालत में आने से बच जाने की पूरी संभावना है.

बर्लुस्कोनी आशांवित

इटली लगातार अपने बजट में सख़्ती बरत रहा है और इसने निश्चय किया है कि साल 2014 तक यह अपने बजट घाटे को पूरी तरह से मिटा देगा.

इटली की अर्थव्यवस्था 2011 की पहली तिमाही में महज़ 0.1 प्रतिशत की दर से बढ़ी है और इसके बाद भी अर्थव्यवस्था की प्रगति की दर में कोई बहुत इज़ाफा नहीं नज़र आ रहा है. इसका अर्थ है कि इटली को लक्ष्यों को छूने के लिए अर्थव्यवस्था में बावजूद तगड़े उछाल की ज़रुरत है.

बुधवार को इटली के प्रधानमंत्री सिल्विओ बर्लुस्कोनी ने देश की संसद से कहा, "अर्थव्यवस्था मज़बूत है और देश के बैंकों के पास पैसे हैं."

पर कई अर्थशास्त्री मानते हैं कि यूरो ज़ोन की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था इस समय कर्ज़ की भंवर में फंसने के ख़तरे से जूझ रही है.

गुरुवार को प्रकाशित अपनी रिपोर्ट में सेंटर फ़ॉर इकोनोमिक्स एंड बिज़नस रिसर्च ने कहा कि इटली का कर्ज़ इसके सकल घरेलू उत्पाद से 128 प्रतिशत है. संस्था के अनुसार अगर इटली के बॉंड पर मिलने वाला ब्याज छह फ़ीसदी के वर्तमान स्तर पर बना रहा तो साल 2017 तक इटली का कर्ज़ इसके सकल घरेलू उत्पाद के 150 प्रतिशत तक पहुँच जाने की आशंका है.

'इटली के लिए गुंजाईश कम'

सेंटर फ़ॉर इकोनोमिक्स एंड बिज़नस रिसर्च के प्रमुख मैकविलियम्स कहना है, "अगर मान लें कि इटली को चार प्रतिशत सालाना कि सस्ती दरों पर भी कर्ज़ मिलने लगा तब भी इसकी अर्थव्यवस्था इतनी सुस्ती से बढ़ रही है कि साल 2018 तक भी इसका कर्ज़ इटली के सकल घरेलू उत्पाद का 123 प्रतिशत रहने की उम्मीद है.

स्पेन में हालत बेहतर इसलिए हैं कि उसके ऊपर कर्ज़ कम है. सेंटर फॉर इकोनोमिक्स एंड बिज़नस रिसर्च के अनुसार बुरी से बुरी सूरत में स्पेन का कर्ज़ उसके सकल घरेलू उत्पाद के 75 फ़ीसदी तक रहने की उम्मीद है.

मैकविलियम्स ने कहा, "स्पेन को किसी की नज़र ना लगे तो अगर स्पेन ने कोई गड़बड़ ना की तो इस बात की पूरी संभावना है कि स्पेन समय पर कर्ज़ चुका पाएगा."

मैकविलियम्स के अनुसार इस बात की ज़्यादा संभावना है कि स्पेन तो अपने कर्ज़ किसी तरह से चुका ले और हालत को काबू में रखे लेकिन इटली के कर्ज़ चुका पाने की ज़िम्मेदारी से चूकने की पूरी संभावना है."

संबंधित समाचार