शेयर बाज़ारों में उठापटक जारी

शेयर बाज़ार इमेज कॉपीरइट Reuters

गुरुवार को अमरीकी बाज़ार अच्छी शुरुआत के साथ खुले हैं लेकिन यूरोपीय बाज़ारों में दिन-भर उठापठक चलती रही.

वॉल स्ट्रीट के डाओ जोन्स सूचकांक में शुरुआत 1.2 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी के साथ हुई है.

यूरोज़ोन में कर्ज़ और यूरोपीय बैंकों की स्थिति को लेकर चिंता की वजह से यूरोपीय शेयर बाज़ार में शुरुआती कारोबार में बढ़ोत्तरी के बाद फिर गिरावट दिख रही है.

दोपहर बाद के कारोबार में लंदन के फ़ुट्सी सूचकांक में एक प्रतिशत, जर्मनी के डैक्स में 1.5 प्रतिशत और फ़्रांस के कैक में तीन प्रतिशत की गिरावट थी.

शुरुआती कारोबार में फ्रांसिसी बैंकों के शेयरों में भारी बढ़ोत्तरी देखी गई. मसलन सोशिए जनरल के शेयर आठ प्रतिशत बढ़े लेकिन दोपहर बाद इसमें भी पाँच प्रतिशत की गिरावट आ गई.

फ़्रांस है चिंता की वजह

फ्रांसिसी बैंकों की वित्तीय स्थिति की चिंता की वजह से ही बुधवार को यूरोपीय शेयर बाज़ारों में भारी गिरावट आई थी.

ये अफ़वाह थी अमरीका के बाद अब फ़्रांस भी अपनी क्रेडिट रेटिंग में कटौती का सामना करने वाला है और उसकी क्रेडिट रेटिंग एएए में कटौती की जाने वाली है.

हालांकि सरकार और फ़्रांस के सोशिए जनरल बैंक दोनों ने ही इसका खंडन किया है.

उल्लेखनीय है कि शेयर बाज़ारों में गिरावट का ये सिलसिला पिछले हफ़्ते एक क्रेडिट रेटिंग एजेंसी स्टैंडर्ड एंड पुअर की ओर से अमरीका की क्रेडिट रेटिंग घटाने के बाद और यूरोपीय देशों की कर्ज़ की स्थिति को लेकर चिंता के बाद शुरु हुआ था.

एलेक यंग स्टैंडर्ड एंड पुअर से जुड़े हुए हैं.

उनका कहना है कि यूरोप ही दुनिया भर के बाज़ारों में हताशा का मुख्य कारण है.

उन्होंने कहा, "कर्ज़ को लेकर हमें यूरोप से लगातार बुरी ख़बरें मिल रही हैं. सबसे ताज़ा चिंता फ़्रांस को लेकर है. ज़ाहिर है कि वहाँ ख़तरा बढ़ रहा है. ऐसा लगता है कि यूरोप से कोई ख़बर मिलती है तो इसमें शामिल यूरोपीय देशों की संख्या बढ़ती जाती है."

एशियाई बाज़ार में उतार चढ़ाव

इससे पहले एशियाई शेयर बाज़ार के कारोबार में मिलाजुला माहौल देखने को मिला और निवेशकों पर यूरोपीय देशों के कर्ज़ संकट का डर का साया साफ़ नज़र आया.

हालांकि शुरुआती गिरावट के बाद जापान का नेक्कई 225 अंक ऊपर आया. शुरुआत में बाज़ार 1.8 प्रतिशत की गिरावट के साथ खुला था लेकिन बंद हुआ 0.63 प्रतिशत की गिरावट के साथ.

हॉन्गकॉन्ग का हैंग सेंग भी शुरुआती गिरावट के बाद कुछ सुधरा और एक प्रतिशत की गिरावट के साथ बंद हुआ.

दक्षिण कोरिया का कोस्पी और ऑस्ट्रेलिया का एएसएक्स भी शुरुआती गिरावट के बाद बाद में कुछ सुधार के साथ बंद हुए.

बीएसई भी गिरा

Image caption बीएसई में दोपहर तक कारोबार ठीक चल रहा था

भारत में आज बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज यानी बीएसई का 30 शेयरों का संवेदी सूचकांक 71 अंकों की गिरावट के साथ बंद हुआ.

कारोबारी सत्र में दिन के तीन बजे तक बीएसई के सेंसेक्स और निफ्टी में अच्छी तेजी दिख रही थी मगर आखिरी समय में चली बिकवाली ने शेयर बाजार में गिरावट दर्ज की.

आज के कारोबार में फिर भी रिलायंस इन्फ्रा, कोटक महिंद्रा बैंक, एचडीएफसी आदि शेयर मजबूती दर्ज करने में सफल रहे.

इससे पहले अमरीका में बुधवार को डाओ जोन्स 520.29 अंकों की गिरावट के साथ बंद हुआ था.

संबंधित समाचार