'ग्रीस को बचने के लिए निवेश की ज़रूरत'

जॉर्ज पापेंद्रू इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption जॉर्ज पापेंद्रू पर ग्रीस में और बचत करने का दबाव है

ग्रीस के प्रधानमंत्री जॉर्ज पापेंद्रू ने जर्मनी में उद्योगपतियों से कहा है कि अगर ग्रीस में निवेश होता है तो उनका देश अपने गहरे आर्थिक संकट से निकल सकता है.

उन्होंने कहा कि ग्रीस फिर से प्रतियोगी बाज़ार में लौटने के लिए ज़बरदस्त सुधार प्रक्रिया चला रहा है.

पापेंद्रू जर्मनी की चांसलर एंगेला मर्केल से मिलने के लिए बर्लिन गए हैं और वहाँ इस मुलाक़ात में वह ये बताएँगे कि ग्रीस ने बजट घाटा कम करने की दिशा में कई क़दम उठाए हैं.

उधर इस हफ़्ते के अंत में जर्मनी की संसद में इस बात पर चर्चा होगी कि ग्रीस को डूबने से बचाने के लिए उसे और धन दिया जाना चाहिए या नहीं.

यूरो मुद्रा वाले देशों के बीच जुलाई में इस बात पर सहमति बनी थी कि ग्रीस को बचाने के लिए एक पैकेज दिया जाए.

अगर चांसलर मर्केल को इसके लिए सहमति नहीं मिली तो मुश्किल हालात एक वास्तविक संकट में तब्दील हो जाएँगे और साथ ही इससे उनकी सरकार के लिए भी परेशानी खड़ी हो सकती है.

ग्रीस को अगर अक्तूबर के मध्य तक और धन नहीं मिला तो वो अपने ऋण भी नहीं चुका सकेगा.

मर्केल के साथ पापेंद्रू की मुलाक़ात में दो मुख्य विषयों पर चर्चा होगी. पहला तो ये होगा कि क्या ग्रीस का ऋण माफ़ किया जा सकता है. उस सूरत में जिन बैंकों ने ग्रीस को ऋण दिया है उन्हें पूरी राशि वापस नहीं मिलेगी.

दूसरा विषय होगा ग्रीस में कटौती की योजनाओं पर चर्चा. इस बात की प्रबल संभावना है कि चांसलर मर्केल गुरुवार को होने वाला मतदान जीत भी जाएँ मगर उनके इर्द-गिर्द के लोग ये संकेत दे रहे हैं कि ग्रीस को और ज़्यादा मदद देने के बजाए ग्रीस के और बचत करने पर ज़ोर दिया जाएगा.

इधर यूरोपीय शेयर बाज़ार मंगलवार को इस उम्मीद के साथ कुछ ऊपर खुले कि ग्रीस के संकट का सामना करने के लिए कुछ क़दम उठाए जाएँगे.

संबंधित समाचार