किंगफ़िशर रेड की उड़ान बंद होगी

किंगफ़िशर के मालिक विजय माल्या इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption किंगफ़िशर ने 2008 में एयर डेकन को ख़रीदकर उसे किंगफ़िशर रेड का नाम दिया था

किंगफ़िशर एयरलाइंस ने कम दाम वाली अपनी उड़ान सेवा किंगफ़िशर रेड को अगले चार महीनों में बंद करने का फ़ैसला किया है.

किंगफ़िशर समूह के प्रमुख विजय माल्या ने कहा कि ऋण की बढ़ी हुई परेशानियों और ईंधन के बढ़ते दाम का सामना करने के लिए कई क़दम उठाए जा रहे हैं.

बंगलौर में किगफ़िशर एयरलाइंस की वार्षिक बैठक के बाद माल्या ने संवाददाताओं को बताया, "हम किंगफ़िशर रेड को बंद कर रहे हैं क्योंकि अब हम कम क़ीमत वाली एयरलाइंस के साथ मुक़ाबला नहीं करना चाहते... मगर इसका मतलब कोई बुरी ख़बर नहीं है."

उन्होंने कहा, "हमें लगता है कि किंगफ़िशर क्लास में यात्रा करना पसंद करने वाले यात्रियों की संख्या काफ़ी है और ये इस बात से भी दिखता है कि किंगफ़िशर क्लास पर दबाव किंगफ़िशर रेड के मुक़ाबले ज़्यादा है."

माल्या ने 2003 में बनी भारत की पहली कम क़ीमत वाली एयरलाइंस एयर डेकन को 2008 में ख़रीदकर उसे किंगफ़िशर रेड का नाम दे दिया था.

उन्होंने कहा, "स्पष्ट तौर पर किंगफ़िशर क्लास में फ़ायदा किंगफ़िशर रेड के मुक़ाबले ज़्यादा है."

किंगफ़िशर के चेयरमैन ने कहा कि उड्डयन क्षेत्र अब भी मज़बूत है और किंगफ़िशर का इस बाज़ार के 20 प्रतिशत पर क़ब्ज़ा है.

संबंधित समाचार