आईफ़ोन-4एस पाने के लिए पूरी रात कतारें

आईफ़ोन इमेज कॉपीरइट AP
Image caption ऐपल को आईफ़ोन 4एस के लॉंच के 24 घंटे के भीतर दस लाख से ज़्यादा ऑनलाइन ऑर्डर मिले

ऐपल के सह-संस्थापक स्टीव जॉब्स के निधन के कुछ ही दिनों बाद, ऐपल की ओर से बनाया गया आईफ़ोन श्रेणी का नया फ़ोन 4एस दुनिया के कई बाज़ारों में उपलब्ध हो गया है.

शुक्रवार को ऑस्ट्रेलिया में लोगों को आईफ़ोन-4एस सबसे पहले उपलब्ध हुआ. शुक्रवार सुबह ऑस्ट्रेलिया के अलावा ये फ़ोन जापान में उपलब्ध हुआ जबकि बाद में ये जर्मनी, फ़्रांस, ब्रिटेन, अमरीका और कनाडा में भी उपलब्ध होगा. अक्तूबर में ये 22 अन्य देशों में भी मिलने लगेगा.

अमरीका में इसकी क़ीमत 199 डॉलर से लेकर 399 डॉलर तक रखी गई है.

ऐपल ने कहा है कि उसे लॉंच के पहले 24 घंटे के भीतर दस लाख ऑनलाइन ऑर्डर प्राप्त हुए थे जबकि इतने ही समय में उसे आईफ़ोन 4 के लिए छह लाख ऑर्डर मिले थे.

'स्टीव कहाँ है?'

ऑस्ट्रेलिया के सिडनी और जापान के टोक्यो में पूरी रात इस फ़ोन को ख़रीदने के लिए आतुर लोगों की लंबी कतारे दिखाई दी हैं. इन लोगों के बीच आई-फो़न-4एस को सबसे पहले पाने की होड़ सी लगी हुई दिखी.

समाचार एजेंसी एएफ़पी के मुताबिक सिडनी के ऐपल स्टोर के बाहर जैसे उत्सव का माहौल था और लोग ने केवल लंबी कतार में खड़े थे बल्कि फ़ोन खरीदने के पूरे अनुभव को रिकॉर्ड भी कर रहे थे.

कई लोगों ने कहा कि वे इस मोबाइल को स्टीव जॉब्स को श्रद्धांजलि के तौर पर ख़रीद रहे हैं.

सिडनी में ऐपल स्टोर के बाहर कंपनी के सह-संस्थापक स्टीव जॉब्स की फूलो से घिरी तस्वीर के पास खड़े 15 वर्षीय टॉम मॉस्का ने कहा, "यह बहुत ही अदभुत अनुभव है. मैंने तो इसे स्टीव जॉब्स को श्रद्धांजलि के तौर पर ख़रीदा है. मैं उनके इस दुनिया से चले जाने से बहुत दुखी हूँ."

टॉम मॉस्का तीन दिन से फ़ोन पाने के लिए कतार में थे.

इस फ़ोन का एक फ़ीचर है ध्वनि से एक्टीवेट होने वाला 'निजी सहायक' सॉफ़्टवेयर. जब रॉयटर्स ने टॉम मॉस्का से पूछा कि वे 'निजी सहायक' से पहले क्या पूछेंगे, तो उन्होंने कहा, "स्टीव कहाँ हैं?"

'कभी कतार में नहीं खड़ा हुआ'

हालाँकि इसके लॉंच के समय कुछ आलोचकों ने कहा कि ये आईफ़ोन के पूर्व मॉडल जैसा ही लगता है लेकिन ऐपल कंपनी को इस मोबाइल फ़ॉन के रिकॉर्ड ऑर्डर मिले हैं.

टोक्यो के गिंज़ा ज़िले में 24 वर्षीय रयोसुके इशीनेबे ने सबसे पहले आईफ़ोन-4एस पाया. वे मंगलवार से कतार में थे.

उनका कहना था, "मैं कभी किसी ऐसी चीज़ को ख़रीदने के लिए कतार में खड़ा नहीं हुआ. लेकिन इस बार ऐसा करने का मन हुआ क्योंकि स्टीव जॉब्स नहीं रहे और उनकी मृत्यु के बाद उनका बनाया गया ये उनका आख़िरी काम होगा."

कंपनी का कहना है कि ये फ़ोन नवीनतम आईओएस5 ऑपरेटिंग सिस्टम पर चलेगा. इसके सफ़ेद और काले मॉडल 16 जीबी, 32 जीबी और 64 जीबी की मेमोरी के साथ उपलब्ध होंगे.

संबंधित समाचार