प्रौद्योगिकी जंग में सैमसंग के ख़िलाफ़ ऐपल की अहम जीत

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption गैलेक्सी टैब के मुद्दे पर तो दोनों कंपनियाँ 10 देशों में आमने-सामने हैं

आईपैड-आईफ़ोन बनाने वाली चर्चित कंपनी ऐपल और विश्व भर में फ़ैली टेक्नोलॉजी कंपनी सैमसंग के बीच प्रौद्योगिकी क्षेत्र में छिड़ी जंग में ऐपल ने नीदरलैंड्स में अहम जीत हासिल की है.

सैमसंग नीदरलैंड्स की अदालत में ये कहते हुए गई थी कि ऐपल को वहाँ 3जी तकनीक इस्तेमाल करने वाले आईफ़ोन-आईपैड बेचने की इजाज़त नहीं मिलनी चाहिए.

सैमसंग का तर्क था कि नीदरलैंड्स में 3जी तकनीक का पेटेंट उसके पास है और ऐपल ने उसके इस्तेमाल लिए कोई क़ीमत नही अदा की है.

लेकिन द हेग स्थित अदालत ने सैमसंग का तर्क मानने से इनकार कर दिया है.

द हेग में अदालत ने फ़ैसला सुनाया कि पूरे बाज़ार में अब 3जी तकनीक इस्तेमाल हो रही है और सैमसंग को ऐपल को ये मौक़ा देना होगा कि वह इस तकनीक के इस्तेमल का लाइसेंस ख़रीद सके.

ग़ौरतलब है कि ऐपल के लिए ये क़ानूनी जीत ऐसे समय आई है जब ऐपल के सह-संस्थापक स्टीव जॉब्स के निधन के बाद, शुक्रवार को उसने आईफ़ोन 4एस दुनिया के कई बाज़ारों में उपलब्ध कराया है.

विश्व के 10 देशों में पेटेंट जंग

दोनों कंपनियों के बीच पेटेंट के मुद्दों पर जंग दुनिया के 10 अन्य देशों में भी लड़ी जा रही है. जिन पेटेंट मुद्दों पर वो जंग हो रही है उनमें से अहम सैमसंग की गैलेक्सी टैब की ट्च-स्क्रीन का मुद्दा है.

हाल में ऑस्ट्रेलिया की एक अदालत ने देश में सैमसंग के नए कंप्यूटर टैबलेट-10.1 की बिक्री पर अस्थायी प्रतिबंध लगा दिया था.

ऐपल का दावा है कि सैमसंग ने ऐपल के आईपैड की टच-स्क्रीन टेक्नोलॉजी का दुरुपयोग किया है.

शुक्रवार को अमरीका में भी एक अदालत ने फ़ैसला सुनाया था कि सैमसंग की टैबलेट ऐपल के पेटेंट का उल्लंघन है.

लेकिन अदालत ने ये भी कहा था कि यदि वह सैमसंग की गैलेक्सी टैब की बिक्री पर रोक चाहता है तो ऐपल को अपने पेटेंट्स की वैधता सिद्ध करनी होगी.

इसी महीने नीदरलैंड्स में ही दक्षिण कोरियाई कंपनी सैमसंग को अपने तीन स्मार्ट फ़ोन दोबारा डिसाइन करने पड़े थे. ऐपल का दावा था कि सैमसंग ने उसके स्क्रॉलिंग फ़ंक्शन पेटेंट का उल्लंघन किया है.

सैमसंग ने तीनों स्मार्ट फ़ोन्स को दोबारा डिसाइन किया ताकि नीदरलैंड्स में उनकी बिक्री पर प्रतिबंध न लगे.

फ़िलहाल नीदरलैंड्स के 3जी तकनीक संबंधी मामले की लड़ाई ऐपल के लिए सैमसंग पर पिछले कुछ हफ़्तों में लगातार चौथी क़ानूनी जीत है.

संबंधित समाचार