आख़िरकार पेट्रोल की क़ीमत में हुई कटौती

पेट्रोल स्टेशन इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption इस साल पाँच बार पेट्रोल की क़ीमत बढ़ाई गई थी

भारत में पेट्रोल की क़ीमत में प्रति लीटर 1.85 रुपए की कटौती की गई है. नई क़ीमत मंगलवार आधी रात से लागू होगी.

देश के विभिन्न राज्यों में टैक्स में अंतर होने के कारण पेट्रोल की क़ीमत में कटौती अलग-अलग होगी. भारत की शीर्ष तेल कंपनी इंडियन ऑयल ने इसकी घोषणा की है.

पिछले तीन नवंबर को पेट्रोल की क़ीमतें बढ़ाई गई थी. इंडियन ऑयल का कहना है कि अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में तेल की क़ीमतों में समीक्षा के बाद उन्होंने यह फ़ैसला किया है.

जनवरी 2009 के बाद ऐसा पहली बार हुआ है कि पेट्रोल की क़ीमतों में कटौती की गई है. सिर्फ़ इस साल पेट्रोल की क़ीमतों में पाँच बार बढ़ोत्तरी की गई थी.

टैक्स

तेल कंपनियों की घोषणा के बाद दिल्ली में अब पेट्रोल की क़ीमत 66 रुपए प्रति लीटर होगी.

दिल्ली में टैक्स कम होने के कारण उपभोक्ताओं को प्रति लीटर 2.22 रुपए कम देने होंगे. जिन राज्यों में टैक्स ज़्यादा हैं, वहाँ पेट्रोल के लिए ज़्यादा क़ीमत देनी होगी.

तीन नवंबर को पेट्रोल की क़ीमत बढ़ाए जाने का देशभर में काफ़ी विरोध हुआ था. लेकिन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और वित्त मंत्री प्रणब मुखर्जी ने यह स्पष्ट कर दिया था कि वे तेल की क़ीमतों के मामले में दख़ल नहीं देंगे.

सत्ताधारी संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) के एक अहम घटक दल तृणमूल कांग्रेस ने तो गठबंधन छोड़ने की धमकी दे डाली थी. लेकिन प्रधानमंत्री से मुलाक़ात के बाद उन्होंने अपना रुख़ नरम किया था.

कांग्रेस ने इस फ़ैसला का स्वागत किया है और कहा है कि इससे आम आदमी को लाभ होगा.

कांग्रेस प्रवक्ता जनार्दन द्विवेदी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी इस कटौती का स्वागत करती है.

संबंधित समाचार