सैमसंग ने गठजोड़ में सोनी का हिस्सा खरीदा

सोनी इमेज कॉपीरइट GETTY
Image caption इलेक्ट्रॉनिक उपभोक्ताओं में तेज़ी को देखते हुए सोनी और सैमसंग के बीच एलसीडी टीवी क्षेत्र में ये गठजोड़ साल 2004 में अस्तित्व में आया था

सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स ने एलसीडी टीवी समझौते में सोनी का पूरा हिस्सा ख़रीदने का फ़ैसला किया है.

एलसीडी टीवी यानि लिक्विड क्रिस्टल डिस्प्ले टीवी नई तकनीक का टेलीविज़न है.

इलेक्ट्रॉनिक उत्पाद बनाने वाली इस कोरियाई कंपनी ने कहा कि वो सोनी का पूरा हिस्सा ख़रीदने के एवज में उसे 1.08 खरब वॉन या 93 करोड़ 80 लाख डॉलर का भुगतान करेगी.

सोनी ने टीवी बेचने के व्यवसाय में बदलाव करने का फ़ैसला लिया है. टीवी क्षेत्र में सोनी को पिछले सात साल से लगातार नुक़सान हो रहा था.

जबकि सैमसंग अपने टीवी क्षेत्र में बेहतर प्रदर्शन करते हुए दुनिया की सबसे बड़ी टीवी निर्माता बन गई है.

सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स ने कहा, “समझौते के तहत सैमसंग एस-एलसीडी कॉर्पोरेशन में सोनी का पूरा हिस्सा ख़रीद लेगी जिसके बाद वो इसका अकेला मालिक बन जाएगा.”

इलेक्ट्रॉनिक उपभोक्ताओं में तेज़ी से हो रही बढ़त को देखते हुए सोनी और सैमसंग के बीच ये गठजोड़ साल 2004 में अस्तित्व में आया था.

हालांकि पिछले तीन सालों में वास्तविक स्थिति में काफ़ी बदलाव आया है.

'बुरा दौर'

साल 2008 में आए वित्तीय संकट और उसके बाद से वैश्विक अर्थव्यवस्था में अस्थिरता बने रहने के कारण इलेक्ट्रॉनिक उपभोक्ताओं में कमी आई है.

दूसरी तरफ़ एलसीडी पैनल और फ़्लैट स्क्रीन के दामों में कमी आने से मुनाफ़े में भी कमी आई है.

सैमसंग ने कहा, “बाज़ार में व्याप्त प्रतियोगिता और मौजूदा चुनौती का जवाब देने के लिए दोनों कंपनियों ने नए व्यावसायिक गठजोड़ में शामिल होने का फ़ैसला किया है.”

इस फ़ैसले के बाद सोनी बाज़ार में चल रही क़ीमतों पर सैमसंग से एलसीडी पैनल लेती रहेगी, और अब सोनी को अपना उत्पादन केन्द्र नहीं चलाना पड़ेगा.

सैमसंग के अनुसार गठजोड़ में सोनी का पूरा हिस्सा ख़रीदने पर उसे तेज़ी से उत्पादन करने और व्यावसायिक फ़ैसले लेने में आसानी होगी.

विशेषज्ञों का कहना है कि ये समझौता सही कदम है, ख़ास तौर पर सोनी को इससे फ़ायदा होगा.

संबंधित समाचार