'झूठी डिग्री' ने ली याहू के सीईओ की नौकरी

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption थॉम्पसन के ने झूठी डिग्री की बात लिखी थी

इंटरनेट जगत की बड़ी कंपनी याहू के मुख्य कार्यकारी अधिकारी स्कॉट थॉम्पसन ने अपना पद छोड़ दिया है.

ये फैसला उन्होंने उन आरोपों के बाद किया है कि उन्होंने नौकरी पाने के लिए कंप्यूटर साइंस की डिग्री होने की झूठी बात बताई थी.

थॉम्पसन की जगह पर कंपनी के ग्लोबल मीडिया हेड रॉस लेविंसन को अंतरिम मुख्य कार्यकारी अधिकारी बनाया गया है.

रिपोर्टों के मुताबिक याहू अपने एक शेयरधारक डेनियल लोब के साथ भी समझौता करने के करीब आ गया है.

लोब ने ही थॉम्पसन की गलती को पकड़ा था और उनके इस्तीफे की मांग की थी. माना जा रहा है कि लोब को कंपनी का एक डायरेक्टर बनाया जा सकता है.

कंपनी के दूसरे डायरेक्टरों की जल्द ही नियुक्ति कर दी जाएगी. याहू ने फ्रेड एमोरोसो को बोर्ड का नया चेयरमैन नियुक्त किया है.

कटौती

याहू ने माना था कि थॉम्पसन की बायो़डेटा में गड़बड़ी थी. इससे पहले थॉमंपसन 'पेपॉल' कंपनी के सीईओ रहे थे.

याहू में आने के बाद उन्होंने खर्च में कटौती के कई कदम उठाए थे.

पिछले महीने कंपनी ने अपने 14 प्रतिशत कर्मचारी यानी 2000 लोगों को नौकरी से निकाला था. इससे कंपनी को लगभग 38 करोड़ डॉलर की बचत की उम्मीद थी.

याहू एक लोकप्रिय वेबसाइट के अलावा फोटो को बांटने वाली साइट फ्लिकर भी चलाता है.

याहू का इस्तेमाल 70 करोड़ लोग करते हैं लेकिन वो अपने प्रतिद्वंदी गूगल के साथ सर्च इंजन की प्रतिस्पर्धा में पीछे छूट गया है. साथ ही उसकी ईमेल की सेवाएं भी फेसबुक और ट्विटर जैसी सोशल नेटवर्किंग साइटों से पिछड़ गई हैं.

संबंधित समाचार