अर्थव्यवस्था को यूरोपीय बैंक-चीन का सहारा

 शुक्रवार, 6 जुलाई, 2012 को 05:02 IST तक के समाचार
चीन करेंसी

पिछले दो माह में ब्याज दर में चीन में ये दूसरी कटौती है.

यूरोप और चीन के केंद्रीय बैंकों ने ब्याज दरों में भारी कटौतियों की घोषणा की है.

यूरोपीय सेंट्रल बैंक ने ब्याज दर को एक प्रतिशत से घटाकर 0.75 फीसद किए जाने की घोषणा की है.

यूरोजोन में श्रृण दर में होने वाली ये सबसे बड़ी कटौती है.

वहीं बैंक ऑफ इंग्लैंड ने कहा है कि वो अगले चार माह के दौरान बांड बाजार में 50 अरब पाउंड का निवेश करेगा.

हालांकि बैंक ने ब्याज दर में कोई तबदीली नहीं की है.

गुरूवार को ही पीपुल्स बैंक ऑफ चाईना श्रृण दर को 6.31 प्रतिशत से घटाकर छह फीसद करने का एलान किया. जबकि जमा बयाज दर यानी डिपाज़िट रेट को तीन प्रतिशत कर दिया गया है.

ये पहले 3.25 फीसद हुआ करता था.

राहत

ऑयरलैंड के एक अखबार ने कहा है कि यूरोप में ब्याज दर में लाई गई कमी से लाखों वैसे लोगों को फायदा होगा जिन्होंने मकान खरीदने के लिए कर्ज ले रखा है.

लेकिन अखबार ने कहा है कि लोगों को इसका फायदा तभी होगा जब बैंक केंद्रीय बैंक की कटौती को अपने श्रृण दर में लागू करेंगे.

यूरोपीय केंद्रीय बैंक ने अपनी जमा बयाज दर यानी डिपाज़िट रेट में कमी की है.

जानकारों का कहना है कि इससे बैंक अपना पैसा बाजार में लगाने या दूसरे बैंकों को देने में अधिक दिलचस्पी दिखाएंगे जिससे अर्थव्यवस्था को लाभ होगा.

इस हफते जारी हुए एक सर्वे में कहा गया है कि यूरोजोन में सेवा क्षेत्र में जून माह में सिकुड़ाव के लक्षण देखे गए हैं और बिजनेस कॉंफिडेंस में कमी आई है.

मारियो ड्रागी

मारियो ड्रागी का कहना है कि यूरोजोन मंदी से बहुत दूर है.

यूरोपीय सेंट्रल बैंक के अध्यक्ष मारियो ड्रागी ने कहा है कि क्षेत्र की अर्थव्यवस्था में दूसरी तिमाही में या तो कोई प्रगति नहीं होगी, या वो उसका प्रतिशत बहुत कम होगा.

हालांकि उन्होंने कहा कि साल के आखिर तक सुधार की उम्मीद है.

एक सवाल कि क्या हालात 2008 की मंदी जितने खराब हैं उन्होंने कहा, "बिल्कुल नहीं. हम वहां से बहुत दूर हैं."

मंहगाई से कम ब्याज

क्षेत्र में ब्याज दर में ये कमी वैसे समय आई है जबकि यूरोजोन में मंहगाई की दर दो प्रतिशत से भी ऊपर है, जबकि ब्याज दर में लगातार कटौती जारी है और समझा जा रहा है कि साल के अंत तक वो 1.6 फीसद के आसपास पहुंच जाएगा.

मंहगाई से भी कम ब्याज दर का फैसला केंद्रीय बैंक तब लेते हैं जबकि वो चाहते हैं कि लोग बचत करने की बयाए पैसा उद्योग-धंधों या छोटे मोटे व्यापार में लगाए.

मारियो ड्रागी के बैंक प्रमुख का भार संभालने के बाद से ये तीसरी कटौती है.

चीन

चीन में नए दर शुक्रवार से लागू हो गए हैं.

हाल में ही ऐलान की गई ब्याज दर कटौती के बाद देश में ये दूसरी कटौती है. लेकिन इन दोनों से पहले चीन में ब्याज दरों में 2008 से कोई बड़ी कटौती नहीं हुई थी.

यूरोप में जारी कर्ज संकट का असर चीन की अर्थव्यवस्था पर पड़ रहा है और चीन ब्याज दर में कटौती के माध्यम से आंतरिक मांग में बढ़ोतरी का प्रयास कर रहा है.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.