'मरम्मत के बाद फिर दौड़ेगी एयरपोर्ट मेट्रो'

दिल्ली एयरपोर्ट मेट्रो एक्सप्रेस इमेज कॉपीरइट PTI
Image caption केंद्रीय शहरी विकास सचिव ने कहा रिपेयर इंस्पेक्शन के बाद निर्माताओं के विरुद्ध कार्रवाई की जा सकती है.

सरकार ने स्वीकार किया है कि दिल्ली एयरपोर्ट मेट्रो एक्सप्रेस को निर्माण की खामियों के वजह से रविवार से बंद किया जा रहा है. दिल्ली के कनॉट प्लेस से इंदिरा गांधी एयरपोर्ट तक चलने वाली इस मेट्रो सेवा को रिलांयस इंफ्रास्ट्रक्चर नाम की कंपनी चलाती है.

दिल्ली में भारतीय रेलवे, रिलांयस और दिल्ली मेट्रो की टैक्निकल समिति की बैठक के बाद कहा गया है कि मरम्मत के बाद जल्द ही इस सेवा बहाल करने का प्रयास किया जाएगा.

इससे पहले दिल्ली एयरपोर्ट मेट्रो एक्सप्रैस चलाने वाली कंपनी रिलांयस इन्फ्रास्ट्रक्चर ने कहा था कि वो रविवार से इस सेवा को अनिश्चितकाल के लिए बंद करने जा रही है.

फरबरी 2011 में शुरू हुई देश की ये पहली पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप वाला मेट्रो प्रोजेक्ट है. शुरूआत से ही ये परियोजना कई दिक्कतों से गुजरती रही है.

केंद्रीय शहरी विकास सचिव सुधीर कृष्णा ने दिल्ली में पत्रकारों को बताया, “समस्या ये है कि कुछ जगहों पर गर्डर और बियरिंग के बीच का मैटीरियल उतना मज़बूत नहीं रहा है जितना उसे होना चाहिए.”

'रिपोर्ट के बाद हो सकती है कार्रवाई'

अधिकारियों ने बताया कि एयरपोर्ट लाइन पर 2100 बियरिंग हैं जिनमें करीब 230 में किसी न किसी प्रकार की मरम्मत की आवश्यकता है.

सुधीर कृष्णा ने कहा कि आने वाले 10-15 दिनों में निरिक्षण के बाद खामियों की रिपोर्ट तैयार की जाएगी.

उन्होंने कहा, “रेलवे की सहायता से निरिक्षण करके, आने वाले दिनों में ये पता चल जाएगा कि समस्या कितनी बड़ी है. इसी के आधार पर मरम्मत की योजना बनाएंगे. उसके बाद डिज़ाइन विशेषज्ञों की सहायता से पुनर्निर्माण योजना बनाई जाएगी. ”

उन्होंने कहा कि ‘रिपेयर इंस्पेक्शन’ की रिपोर्ट के आधार पर मेट्रो एक्सप्रेस के ठेकेदारों के विरुद्ध कार्रवाई भी की जा सकती है.

केंद्रीय शहरी विकास सचिव ने कहा कि पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप मॉडल के साथ कोई खराबी नहीं है और सरकार एयरपोर्ट मेट्रो एक्सप्रेस के मुद्दे से सीख लेगी.

उन्होंने कहा, “हम इस मॉडल को छोड़ने वाले नहीं है. इसमें जो भी त्रुटियां दिखेंगी, उन्हें हम सुधारते हुए आगे बढ़ेंगे.”

संबंधित समाचार