खदान में फंसे 40 मज़दूरों को निकाला गया

हेनान में खदान धंसी इमेज कॉपीरइट Reuters

चीनी मीडिया के अनुसार हेनान प्रांत की एक खदान में फंसे 40 से अधिक खदानकर्मियों को 36 घंटे बाद बाहर निकाल लिया गया है. चीन के सरकारी टीवी चैनल सीसीटीवी ने कहा है कि गुरुवार को हुए इस हादसे में आठ की मौत हो गई है.

अब भी कई लोग लापता हैं.

टीवी पर स्ट्रेचर द्वारा खदान से बाहर लाए जा रहे खदानकर्मियों की तस्वीरें दिखाई जा रहा हैं. इन लोगों की आंखें तौलिए से ढकी हुई हैं ताकि उन्हें सूर्य की रोशनी से दिक्कत ना पेश आए.

खदान में हेनान प्रांत में आए भूकंप के बाद एक ज़ोरदार धमाका हुआ था. अधिकारियों ने कहा है कि शुरूआत में खदान धंसने के कारण उठे ग़ुबार की वजह से राहतकार्यों में बाधा पहुंच रही थी.

चट्टान ने बंद किया रास्ता

इमेज कॉपीरइट Other
Image caption खदान से निकाले गए एक कर्मचारी को राहतकर्मी एंबुलेंस तक ले जाते हुए.

उनके अनुसार खदान में धमाके के समय 75 लोग काम कर रहे थे.

ये मज़दूर 760 मीटर की गहराई में काम कर रहे थे. धमाके के कारण एक चट्टान ने उनके बाहर निकलने का रास्ता बंद कर दिया था.

एक रिपोर्ट के अनुसार राहतकर्मियों ने मज़दूरों तक पहुंचने के लिए 500 मीटर लंबी सुरंग खोदी है.

बीजिंग में बीबीसी संवाददाता मार्टिन पेसेंस के अनुसार चीन की खदान दुनिया भर में सबसे घातक रहे हैं. चीन का खदान उद्योग ढीली सुरक्षा व्यवस्था के लिए बदनाम रहा है.

इसी हफ़्ते हुनान प्रांत की एक खदान में भी धमाका हुआ था जिसमें 29 लोग मारे गए थे.

लेकिन चीनी अधिकारियों का कहना है कि देश का सुरक्षा रिकॉर्ड बेहतर हो रहा है और वे कई अवैध खदानों को बंद करने जैसी कार्रवाई कर रहे हैं.

संबंधित समाचार