चीन का आयात बढ़ाने का वादा

चीन का व्यापार इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption चीन का निर्यात आयात के मुक़ाबले कम रहा है

चीन के राष्ट्रपति हू जिंताओ ने दुनिया में व्यापार को बढ़ावा देने के लिए आयात बढ़ाने का वादा किया है.

चीन के विश्व व्यापार संगठन में शामिल होने के दस साल पूरा होने के मौक़े पर राष्ट्रपति हू ने कहा कि अगले पाँच वर्षों में वार्षिक आयात आठ खरब डॉलर से ऊपर ले जाया जाएगा.

पिछले साल चीन ने बाहर से 1.39 खरब डॉलर के उत्पाद आयात किए थे.

सीमा शुल्क के आँकड़े दिखाते हैं कि नवंबर में देश के निर्यात में 14 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी देखी गई जबकि आयात 22 फ़ीसदी बढ़ा.

देश के आर्थिक विकास की दर अक्तूबर से कुछ कम हुई है क्योंकि चीन के सबसे बड़े व्यापारिक साझीदार यूरोप के साथ उसका व्यापार घटा है.

यूरोप और अमरीका में आर्थिक विकास लगभग रुक जाने की वजह से विश्व की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था चीन पर और ज़्यादा दबाव है कि वह देश में खपत बढ़ाए.

हू ने कहा कि चीन अपनी व्यापारिक नीति में संतुलन लाने को लेकर गंभीर है और वह दुनिया भर के देशों के लिए अवसर पैदा करेगा.

ग्रेट हॉल ऑफ़ पीपुल में दिए भाषण में हू ने कहा, "विदेश व्यापार बढ़ाने के लिए हम आयात बढ़ाने को एक अहम रास्ते के तौर पर देखते हैं."

उन्होंने भरोसा दिलाया कि वह जानबूझकर व्यापार को फ़ायदे में दिखाने की कोशिश नहीं करेंगे.

चीन के व्यापारिक साझीदारों के साथ उसका व्यापार लाभ एक तनाव का मुद्दा रहता है मगर अक्तूबर में ये 17 अरब डॉलर से घटकर 14.5 अरब डॉलर रह गया.

संबंधित समाचार