हेवुड मामले में एक पत्रकार का गंभीर आरोप

नील हेवुड इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption नील हेवुड हत्या मामले ने इसे बड़ा राजनीतिक सकैंडल बना दिया है.

चीन के सरकारी मीडिया में काम करने वाले एक पत्रकार ने आरोप लगाया है कि चीनी प्रशासन ने ब्रितानी व्यापारी नील हेवुड की हत्या के मामले में उस समय लीपापोती करने की कोशिश की थी, जब उन्हें पता चला था कि ये मामला एक चीनी उच्च राजनीतिज्ञ से संबंधित है.

पिछले साल नवंबर में चोंगकिंग शहर में अधिकारियों ने कहा था कि नील हेवुड की मौत ज्यादा शराब पीने के बाद दिल का दौरा पड़ने से हुई थी.

इस पत्रकार का कहना था कि जब पुलिस घटनास्थल पर पहुंची, तो उसने तुरंत इसे एक हत्या बताया था लेकिन उस समय घबरा गई जब उसे पता चला कि हेवुड के बो शिलाई की पत्नी गु कैलाई के साथ कारोबारी संबंध थे.

इससे पहले स्थानीय अधिकारियों ने शुरुआती रिपोर्ट में कहा था कि हेवुड की मौत ज्यादा शराब पीने से हुई थी.

बो शिलाई देश की सर्वोच्च पोलित ब्यूरो की स्थायी समीति के लिए दावेदार माने जा रहे थे.लेकिन ये मामला सामने आने के बाद उन्हें पार्टी से हटा दिया गया था.

इसी महीने प्रशासन ने इस मामले में जांच करने का वादा किया है और इस मामले में गु कैलाई को संदिग्ध बताया है.

41 वर्ष के ब्रितानी व्यापारी हेवुड 15 नवंबर 2011 को चोंगकिंग स्थित एक होटल में मृत पाए गए थे.

पीपुल्स डेली के पूर्व संवाददाता हैन पिंगजाओ का कहना था कि इस मामले की जांच कर रहे तीन जांचकर्ताओं को इस्तीफा देने के लिए कहा गया था.

'पसीने-पसीने हो गए'

उनका कहना था कि वे राजनीतिज्ञों से डरे हुए थे. इस समय जाकर पूर्व चोंगकिंग पुलिस प्रमुख वॉग लीजुन इस मामले की जांच प्रक्रिया में शामिल हुए. जनवरी में वॉग ने बो को बताया कि ये उनका मानना है कि गु हत्या के मामले में शामिल थी.

हैन का कहना था कि जब उन्हें इस मामले के बारे में जानकारी दी गई थी तो उन्हें धक्का लगा था. उनका कहन था,''वे पसीने-पसीने हो गए थे.''

तेज तर्रार माने जाने वाले बो ने चीन में कम्यूनिस्ट विचारधारा को आगे बढ़ाने के लिए अभियान चला कर नाम कमाया है.

पत्रकार का कहना था कि आधे घंटे बाद बो ने वॉग का हाथ कसकर पकड़ा. वॉग को तब लगा था कि वो सुरक्षित हैं लेकिन ऐसा नहीं था.

इसके बाद बो को पार्टी से निष्काषित कर दिया गया था और उन्होंने चैंगदु स्थित अमरीकी वाणिज्य दूतावास में शरण मांगी थी. जहां उन्होंने अमरीकी अधिकारियों को हत्या के बारे में बताया था और पाला बदलने की कोशिश की थी.

चीन में अक्तूबर में होने वाले नेतृत्व परिवर्तन से पहले बो और उनकी पत्नी से जुड़े मामले ने एक बड़े राजनीतिक सकैंडल का रूप ले लिया है.

संबंधित समाचार