बो शिलाई कांड :पूर्व पुलिस प्रमुख को पंद्रह साल की जेल

वांग लिजुन
Image caption वांग लिजुन पर नील हेवुड हत्याकांड में लीपापोती करने का आरोप है

चीन के बहुचर्चित बो शिलाई राजनीतिक कांड मामले में चीन की एक अदालत ने पूर्व पुलिस प्रमुख वांग लिजुन को पंद्रह साल जेल की सज़ा सुनाई है.

इससे पहले चेंगडू में पिछले हफ्ते दो दिन चली मुकदमे की कार्यवाही के दौरान वांग लिजुन को अपनी जिम्मेदारियों का ठीक से निर्वाह न करने, पद का दुरूपयोग और रिश्वत लेने के साथ-साथ ब्रितानी कारोबारी की हत्या को छिपाने की कोशिश करने का दोषी भी पाया था.

उन्होंने अदालत में अपना दोष स्वीकार कर लिया है.

ब्रितानी कारोबारी नील हेवुड हत्या मामले में वांग लिजुन ने इस साल फरवरी में चीन स्थित अमरीकी दूतावास से मदद से गुहार लगाई थी. इस वजह से इस मामले ने तूल पकड़ लिया था.

चीन की राजनीति में अहम किरदार अदा करने वाले बो शिलाई की पत्नी गू काईलाई को नील हेवुड की हत्या का दोषी पाया गया है.

नील हेवुड हत्याकांड

इस मामले में पूर्व पुलिस प्रमुख वांग लिजुन के खिलाफ सज़ा ऐसे समय में सुनाई गई है जब अगले कुछ हफ्तों में चीन में नए नेताओं के चयन की कवायद शुरू होने वाली है.

विश्लेषकों का कहना है कि इससे पता चलता है कि बो शिलाई मामले से चीन का नेतृत्व किस तरह निपटना चाहता है.

Image caption नील हेवुड की हत्या के लिए गू काईलाई को मौत की सजा सुनाई गई है

नील हेवुड हत्याकांड में पत्नी गू काईलाई का हाथ होने की बात साबित होने की वजह से बो शिलाई का राजनीतिक करियर खत्म हो गया है.

गू काईलाई को नील हेवुड की हत्या के लिए मौत की सजा सुनाई गई है जिसे फिलहाल स्थगित रखा गया है.

पूर्व पुलिस प्रमुख वांग लिजुन पर इस मामले में लीपापोती करने का आरोप लगा था.

बीते मंगलवार जब वांग के खिलाफ मुकदमे की सुनवाई पूरी हुई थी, तब कोर्ट के एक अधिकारी ने एक बयान पढ़ा था जिसमें कहा गया था कि प्रतिवादी ने अपने खिलाफ़ लगे आरोपों को चुनौती नहीं दी है.

बीबीसी संवाददाता का कहना है कि ब्रितानी कारोबारी की हत्या के मामले में पूर्व पुलिस प्रमुख ने ढिलाई बर्ती थी.

.

संबंधित समाचार