करणः पाक कलाकारों पर पाबंदी हल नहीं

बॉलीवुड फ़िल्मकार करण जौहर का कहना है कि वो उड़ी हमले में मारे गए लोगों के लिए दुखी हैं और इसके बाद देश में उमड़े आक्रोश को भी समझते हैं.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार उन्होंने कहा, "पाकिस्तानी कलाकारों पर पाबंदी लगाना आतंकवाद का समाधान नहीं है."

उड़ी हमले के बाद राज ठाकरे की महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने फ़वाद ख़ान और माहिरा ख़ान जैसे पाकिस्तानी कलाकारों को 48 घंटे के भीतर भारत से चले जाने की धमकी दी थी. एमएनएस ने ये धमकी भी दी थी कि वो ऐसी फ़िल्मों को रिलीज़ नहीं होने देंगे जिनमें पाकिस्तानी कलाकार काम कर रहे हैं.

जौहर की आने वाली फ़िल्म 'ऐ दिल है मुश्किल' में फ़वाद ख़ान अभिनय कर रहे हैं. यह फ़िल्म दिवाली में रिलीज होने वाली है.

इमेज कॉपीरइट CRISPY BOLLYWOOD

पीटीआई के मुताबिक करण जौहर ने एक न्यूज चैनल को बताया, "मैं लोगों की तकलीफ और गुस्से को समझ सकता हूं. जिनकी जानें गईं उनके लिए मेरा दिल रो रहा है. आतंकवाद को किसी भी रूप में सही नहीं ठहराया जा सकता है. लेकिन पाक कलाकारों पर प्रतिबंध लगाने से कोई हल नहीं निकलेगा."

फ़िल्मकार का ये भी कहना था कि इस बात को सार्वजनिक तौर से कहने पर वो घबरा भी रहे हैं.

उन्होंने कहा, "ये कहते हुए मुझे डर लगता है. मैं वो दर्द और गुस्सा भीतर तक महसूस कर रहा हूं. यदि इस वजह से मेरी फ़िल्मों को निशाना बनाया जाता है तो मुझे बहुत तकलीफ होगी."

इमेज कॉपीरइट CRISPY BOLLYWOOD

उनका कहना था- "कई बार हम बस इतना कहना चाहते हैं कि हम रचनात्मक लोग हैं, प्लीज हमें अकेला छोड़ दो. हम फ़िल्में बनाते हैं, प्यार फैलाते हैं. दुनिया भर में लाखों लोग हमारे काम से खुश हैं. हमें आप वही करने दें."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)