'नागिन' ने 'ब्रह्मराक्षस' को डसा

इमेज कॉपीरइट Zee TV

कई हफ़्तों से पहले पायदान पर राज करनेवाले 'ब्रह्मराक्षस' को 'नागिन' के दूसरे सीज़न ने ज़ोरदार टक्कर देते हुए टीआरपी लिस्ट में नीचे धकेल दिया है.

'नागिन' के पहले स्थान पर आते ही 'ब्रह्मराक्षस' आठवीं पायदान पर आ पहुंचा है.

अक्तूबर के दूसरे हफ़्ते में शुरू हुआ धारावाहिक 'नागिन 2' अपने पहले सीजन की तरह फिर से रेटिंग लिस्ट पर राज करने के लिए तैयार है.

बता दें कि इस साल की शुरुआत नाग-नागिन के हिट शो 'नागिन' से हुई.

शो ने ख़त्म होने के समय तक दर्शकों की ज़बरदस्त लोकप्रियता हासिल की थी. लगभग छह महीने टीआरपी पर भी इसी धारावाहिक का कब्ज़ा बना रहा.

इमेज कॉपीरइट Colors

इसकी लोकप्रियता ने धारावाहिक की 'नागिन' मौनी रॉय को टीवी की टॉप अभिनेत्री बना दिया.

'नागिन' की समाप्ति तक इसकी लोकप्रियता को देखते हुए चैनल ने फिर से इसके सीजन-2 की घोषणा कर दी.

लेकिन इसके दूसरे सीजन की अब तक प्रसारित कड़ियों को देखकर ऐसा लगता है, जैसे निर्माताओं ने बिना किसी तैयारी के इसकी लोकप्रियता को भुनाने के लिए दूसरा सीजन शुरू कर दिया है.

इस बार मौनी रॉय की लोकप्रियता को देखते हुए उन्हें दोहरी भूमिका सौंपी गई है. वे मां और बेटी के किरदार में नज़र आ रही हैं.

वैसे दोनों किरदारों में मौनी की उम्र में कोई विशेष परिवर्तन नहीं दिखाई दे रहा है, सिर्फ़ आंखों पर चश्मा और थोड़े से बाल सफेद होने का फ़र्क़ है. इसके अलावा अभिनय में भी पूरी तरह से विफल नज़र आ रही हैं.

इमेज कॉपीरइट Colors

इस हफ़्ते दूसरे पायदान पर है कलर्स का ही चर्चित धारावाहिक 'शक्ति-अस्तित्व के एहसास की'.

इस धारावाहिक में प्यार की एक अनोखी दास्तान दिखाई जा रही है.

सास-बहू, नागिन और भूत-प्रेत जैसे धारावाहिकों के बीच धारावाहिक 'शक्ति' एक अलग थीम पर बना है. यह धारावाहिक कई हफ़्तों से टीआरपी सूची में लगातार अपनी जगह मज़बूत करता नज़र आ रहा है.

तीसरे पायदान पर स्टार का धरावाहिक 'साथ निभाना साथिया' बना हुआ है.

सास-बहू के प्यार से सजा यह फैमिली ड्रामा दर्शकों के बीच अपनी जगह बनाने में लगभग कामयाब ही रहा है.

इमेज कॉपीरइट Colors

वहीं चौथे पायदान पर है 'ये है मोहब्बतें' तो पांचवे पर पहुंचा 'कुमकुम भाग्य'.

रिएलिटी शोज़ में इस बार भी 'कपिल शर्मा शो' बाजी मारते हुए 'सुपर डांसर' को दूसरे नंबर से आगे नहीं बढ़ने दे रहा है.

सोनी चैनल के दोनों शो एक-दूसरे को टक्कर दे रहे हैं.

16 अक्टूबर से शुरू हुआ 'बिग बॉस सीज़न 10' एक हफ़्ते में कोई ख़ास असर नहीं छोड़ पाया.

देखना दिलचस्प होगा कि सौ दिन तक चलने वाला 'बिग बॉस' दर्शकों को रास आता है या नहीं?

(सभी तथ्य 'बार्क' की ओर से उपलब्ध आंकड़ों पर आधारित हैं. 'बार्क' टीआरपी इकट्ठा करने वाली आधिकारिक एजेंसी है.)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)