शट इन : हॉलीवुड की ख़राब फिल्म

इमेज कॉपीरइट Lava Bear Films

हॉलीवुड की जानी मानी अभिनेत्री नाओमी वॉट्स, जो किंग काँग फ़िल्म में नज़र आई थी, एक छोटे बजट की सस्पेंस फ़िल्म "शट इन" में दिखाई दे रही हैं.

शट इन नामक उपन्यास पर आधारित इस फ़िल्म की कहानी के मध्य में है अमरीका के एक दूर दराज़ के इलाके में रहने वाली मनोवैज्ञानिक मैरी.

इमेज कॉपीरइट Lava Bear Films

मैरी एक दुर्घटना में लकवाग्रस्त हो चुके अपने सौतेले बेटे की देखभाल करते हुए, किसी तरह अपना जीवन जी रही है और फिर एक दिन उन्हें आभास होता है कि उनके विशाल घर में उनके अलावा कोई और भी है जो मां-बेटे की जान का दुश्मन है.

यह घुसपैठिया कौन है ? क्या यह कोई भूत है ? कहानी इसी थ्रिल, सस्पेंस, हॉरर के आसपास चलती रहती है.

हॉलीवुड में ऐसी कहानियां दर्जनों बार बन चुकी हैं और फ़िल्म निर्देशक फ़ैरेन ब्लैकबर्न, जो बीबीसी के लिए "डाक्टर हू" जैसी रोमांचक सीरीज़ पेश कर चुके हैं, अपने फ़ॉर्मूलों को दोहराते नज़र आते हैं.

एक अकेली महिला, दूर दराज़ का इलाका, एक तूफ़ानी रात और फिर घर में घुसपैठिया या कोई और डरावनी बात. किसी रामसे ब्रदर की फ़िल्म के प्लॉट से मिलती इस फ़िल्म की सबसे यूनीक चीज़ है फ़िल्म की लंबाई.

आप हॉलीवुड फ़िल्मों के फ़ैन हैं तो आप पहले ही दृश्य में अंदाज़ा लगा लेंगे कि विलेन कौन है, लेकिन फ़िल्म में नाओमी ने एक परेशान और डरी हुई महिला का अच्छा अभिनय किया है और काफ़ी दृश्यों में वो बिना मेकअप के नज़र आई है, जो वाकई में एक नई बात है.

भारत में 'ए' सर्टिफ़िकेट के साथ रीलीज़ हो रही इस फ़िल्म में कुछ दृश्य व भाव वयस्कों के लिए भी अस्वीकार्य हो सकते हैं, इसलिए आप इसे अपने परिवार और ख़ासकर बच्चों के साथ न देखें तो बेहतर.

वैसे इस फ़िल्म को भारत में हैरी पॉटर सीरीज़ से जुड़ी फ़िल्म "फ़ैटास्टिक बीस्ट एंड वेयर टू फ़ाईंड देम" के साथ रिलीज़ किया जा रहा है, जिससे इस फ़िल्म को दर्शकों की कमी उठानी पड़ सकती है.

रेटिंग - ** स्टार

फ़िल्म - शट इन

निर्देशक - फ़ैरेन ब्लैकबर्न

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)