कंगना-ऋतिक झगड़ा, और उलझ गया मामला?

इमेज कॉपीरइट Bollywood Aajkal

कंगना-ऋतिक झगड़े में पहले पुलिस और फिर ऋतिक की तरफ़ से आए बयान ने मामले को पेचीदा कर दिया है.

पहले पुलिस ने कहा कि मामले में पूरे सबूत नहीं हैं और जांच बंद की जा रही है लेकिन ऋतिक की टीम का दावा है कि पुलिस ने उनसे कहा है कि जांच जारी है.

साइबर सेल के जॉइंट कमिश्नर संजय सक्सेना ने बीबीसी से कहा, "ऋतिक की मेल आइडी का सर्वर यूएस का है, जिसकी वजह से भारत में इस मेल आइडी से कुछ भी खोज पाने में हम असमर्थ हैं. ये पता लगाना मुश्किल है कि उसका इस्तेमाल कौन कर रहा था?"

सक्सेना ने कहा, "पेश सबूत के आधार पर पर केस को आगे नहीं बढ़ाया जा सकता. इसलिए इसे बंद कर दिया गया है."

लेकिन ऋतिक रोशन की क़ानूनी टीम की तरफ़ से जारी बयान में कहा गया है कि मीडिया में केस बंद होने की जो ख़बरे चल रही हैं वो झूठी हैं.

बयान में दावा किया गया है कि पुलिस ने ऋतिक के वकील महेश जेठमलानी को बताया है कि केस बंद नहीं हुआ है और मामले में जांच जारी है.

बयान में कहा गया है कि इस बात के पुख़्ता सूबत हैं कि ऋतिक रोशन और कंगना रनौत के बीच किसी तरह का कोई संबंध नहीं था.

बीबीसी संवाददाता सुशांत मोहन का कहना है कि पहले पुलिस के बयान के बाद लग रहा था कि ये झगड़ा ख़त्म हो गया है लेकिन ऋतिक की तरफ़ से जारी बयान ने इसे नया मोड़ दे दिया है.

कंगना ने यह दावा किया था कि वो और ऋतिक रिलेशनशिप में थे और ऋतिक ने उन्हें कई मेल भी भेजे थे.

फिर ऋतिक ने साइबर क्राइम सेल में शिकायत दर्ज की थी और दावा किया था कि कंगना को मेल फर्जी आईडी से मिले थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे