नागिन की छाया से नहीं उबर पा रहा बिग बॉस

इमेज कॉपीरइट Colors

हर हफ़्ते टीआरपी की रेस में उन्हीं तीन चार धारावाहिकों के नाम देख कर हैरानी भी होती है और बोरियत भी और लगता है कि लोग कुछ और क्यों नहीं देखते?

लेकिन दर्शकों को जो पसंद आता है वो उस चीज़ को सालों साल देख सकते हैं और भारतीय धारावाहिकों के 500 से 1000 एपिसोड या एक सीज़न के बाद दूसरे सीज़न आ जाना इसी बात को दर्शाता है.

कलर्स के धारावाहिक नागिन के सीज़न 2 ने जैसे दर्शकों को सम्मोहित कर लिया है और लोग कलर्स के बड़ा शो बिग बॉस को देखें न देखें वो नागिन को टीवी पर ज़रूर देखते हैं.

इच्छाधारी नाग नागिन का एक दूसरे को बचाना, समुद्र में जाकर जलीय जीवों से लड़ना, कलर्स की ये फ़ंतासी वाली दुनिया दर्शकों को बेहद पसंद आ रही है.

इमेज कॉपीरइट Star Plus

कमाल इस बात का है कि कलर्स के पुराने धारावाहिक दिखाने वाले कलर्स के दूसरे चैनल रिश्ते पर नागिन का पहला सीज़न दिखाया जाता है और यह धारावाहिक टीआरपी टेबल में तीसरे स्थान पर क़ाबिज़ है.

लेकिन नागिन के नंबर एक होने का मतलब यह नहीं है कि कलर्स भी नंबर 1 चैनल है, नंबर 1 चैनल का ख़िताब हासिल किया है स्टार प्लस ने और इस चैनल के धारावाहिक 'साथ निभाना साथिया' ने लंबी छलांग लगाते हुए पिछले हफ़्ते के चौथे स्थान से दूसरे पर जगह बना ली है.

इमेज कॉपीरइट Colors

कलर्स को दूसरे, ज़ी को तीसरे और सोनी को चौथे स्थान से काम चलाना पड़ा है और इस हफ़्ते सोनी के सुपरहिट शो कपिल शर्मा को भी नुकसान उठाना पड़ा था क्योंकि इसी हफ़्ते डिज़्नी की फ़िल्म 'जंगल बुक' को स्टार प्लस पर दिखाया गया.

रिएलिटी शोज़ में सोनी के कपिल शर्मा शो और सुपर डांसर्स को लोगों का प्यार मिल रहा है और अच्छी टीआरपी के चलते सुपर डांसर्स को थोड़ा और लंबा चलाया जा रहा है.

इमेज कॉपीरइट Nik India

अब बारी बच्चों के कार्यक्रम की तो निकोलोडियन के मोटू पतलू बच्चों के बीच सुपरहिट हैं और हर हफ़्ते की तरह ये टीआरपी में पहले पायदान पर हैं और इनके पीछे डोरेमोन और निंजा हट्टोरी ने जगह बनाई.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)