रजनीकांत- 66वें जन्मदिन पर ये सब बनाता है ख़ास..

इमेज कॉपीरइट V creations

कहते हैं कि गुरुत्वाकर्षण की खोज तब हुई जब न्यूटन सेब के पेड़ के नीचे बैठे थे और एक सेब गिरा. उनका कहना था कि धरती अपनी चुंबकीय शक्ति से चीज़ों को अपनी ओर खींचती है. रजनीकांत की फ़िल्मों में ये चुंबकीय शक्ति कमज़ोर पड़ जाती है. जब वो दुश्मन को मारने निकलते हैं तो वक़्त भी ठहर जाता है.

रजनीकांत 40 साल से बड़े पर्दे पर राज कर रहे हैं. उनके आने पर सिनेमा हॉल का माहौल ही अलग होता है. आज रजनीकांत का 66वां जन्मदिन है. हर साल उनका जन्मदिन धूमधाम से मनाया जाता है, लेकिन इस साल उन्होंने अपने फैंस को कहा कि उनका जन्मदिन न मनाएं.

कारण है पूर्व मुख्यमंत्री जे जयललिता के लिए सम्मान. इनके चाहने वालों के लिए ये दिन ख़ास है. अगर देखना है कि लोग किस तरह से इनकी फिल्मों को पसंद करते हैं, तो देखिए इनकी फ़िल्म का फर्स्ट डे फर्स्ट शो. हम बताएंगे आपको वो पांच बातें जो रजनीकांत को ख़ास बनाती हैं.

रजनीकांत शूटिंग में घायल

ज़बर्दस्त एक्शन सीन्स

आपने उनकी फ़िल्म का वो सीन देखा होगा जब वो हवा में गोली मारते हैं तो बुलेट हवा में रुकती है ताकि वो उसके दो हिस्से करें और एक गोली से दो दुश्मनों को चित्त करें. चश्मा पहनने के उनके स्टाइल से ही दुश्मन कन्फ़्यूज़ हो सकता है. 1985 में वह अमिताभ बच्चन और कमल हासन के साथ हिन्दी फ़िल्म में नज़र आए. उसमें उन्होंने रिवॉल्वर से सिगरेट जलाई. गणित की परवाह ना करें- एक हीरो 10 विलेन को हरा सकता है. उनकी फ़िल्म मज़े से देखें लेकिन याद रखें, "DO NOT TRY THEM AT HOME." यानी घर पर ऐसा ट्राई न करें.

इमेज कॉपीरइट AFP

डायलॉग बाज़ी - माइंड इट.

इनकी फ़िल्मों के डायलॉग इनकी पहचान हैं. ये वन लाइनर्स आप भी इस्तेमाल करते होंगे.

  • शिवाजी- "झुंड में तो सूअर आते हैं, शेर अकेला आता है."
  • मुथु - "ये कोई नही जानता कि मैं कैसे और कब आऊंगा लेकिन मैं सही वक़्त पर पहुँच जाऊँगा."
  • चालबाज़- "आज संडे है तो दारू पीने का डे है."
  • अँधा क़ानून- "एक मौत तेरे गुनाहों की सज़ा के लिए काफ़ी नही."
  • आतंक ही आतंक- "रिवॉल्वर से ज़्यादा ख़तरनाक अगर कोई चीज़ है तो वो हैं तुम्हारी आँखें."
  • फूल बने अंगारे - "मैं शक की बुनियाद पर केस का पन्ना खोलता हूँ और उसे यकीन मे बदलकर किताब बंद कर देता हूँ."

रजनी चुटकुले

सोशल मीडिया पर इन पर बनाए जोक्स पढ़कर आप ज़रूर हंसे होंगे. वो जोक्स जो सोशल मीडिया पर नज़र आए.

  • रजनीकांत घड़ी नहीं पहनते - वो खुद तय करते हैं कि टाइम क्या है
  • जब ग्राहम बेल ने फ़ोन का आविष्कार किया तो उनके पास पहले से ही दो मिस्ड कॉल्स थे रजनी के.
  • लोग मुसीबत के वक़्त 100 नंबर घुमाते हैं और पुलिस मुसीबत के वक़्त राजनीकांत को मदद के लिए बुलाती है.
  • मोनालिसा की मुस्कुराहट का कारण हैं रजनीकांत.
इमेज कॉपीरइट facebook

नायक भी खलनायक भी

ये हीरो भी हैं , कॉमेडियन भी और विलेन भी. अपने करियर की शुरुआत में ये बहुत सी फिल्मों में विलेन ही थे.

फ़िल्म 'मून्डरु मूडीचु' में ये नज़र आए कमल हासन और श्रीदेवी के साथ और इसी फ़िल्म में सिगरेट को उछालने वाला सीन लोकप्रिय हुआ.

हिन्दी फ़िल्म 'बेवफ़ाई' में ये बने खलनायक और राजेश खन्ना हीरो. फ़िल्म 1985 में आई और हिट साबित हुई.

इमेज कॉपीरइट Lyca Productions

इनकी कहानी भी फ़िल्मी

रजनीकांत का पूरा नाम है शिवाजी राव गायकवाड़. रजनी बैंगलुरु में बस कंडक्टर का काम किया करते थे. 1975 में आई इनकी पहली फ़िल्म- अपूर्वा रागंगल. इन्होंने तमिल, तेलुगू, बंगाली, हिन्दी और एक अंग्रेज़ी फ़िल्म में काम किया है. 2007 की फ़िल्म शिवाजी के बाद , ये बन गए एशिया के सबसे ज़्यादा कमाई करने वाले अभिनेताओं में से एक.

इनसे थोड़ा ही आगे रहे जैकी चैन.

वैसे जल्द रजनीकांत नज़र आएँगे "रोबोट 2.0" में अक्षय कुमार के साथ. 'एथिरान' की ये सीक्वल रिलीज़ होगी 2017 में.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे