नोटबंदी से ज़्यादा चला 'माछेर झोल'

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
सावन दत्ता ने खाने और गाने को मिक्स कर दिया है. नतीजा ये कि वो बहुत पापुलर हो गईं.

"यू-ट्यूब पर दो चीज़े बहुत देखी जाती हैं, एक गाना और दूसरा खाना (बनाना). इसलिए मैंने सोचा क्यों न इन्हें मिलाकर देखा जाए. ज़्यादा से ज़्यादा क्या होगा, चलेगा नहीं?"

ये हैं सावन दत्ता. पेशेवर संगीतकार हैं. खुद के गीत लिखती हैं. और शौकिया तौर पर ब्लॉगिंग करती रही हैं. ब्लॉगिंग को अब सावन नए रूप में लेकर आई हैं. उसे वह वीडियो ब्लॉग या व्लॉग कहती हैं.

इमेज कॉपीरइट Sawan Dutta

'फ़ूड ब्लॉगिंग' में नया कंटेंट

वीडियो वेबसाईट यू-ट्यूब पर 'मेट्रोनोम' नाम से उनका एक चैनल है. सावन यहां अपने अनोखे 'फ़ूड ब्लॉग' को एक किस्म के कंटेंट से नवाज़ रही हैं.

दिल्ली में रहने वाली सावन एक बंगाली परिवार से ताल्लुक रखती हैं. उनके व्लॉग की ख़ासियत है कि वे इसपर बंगाली खाने की रेसिपी गाना गाते हुए सुनाती हैं.

वो कहती हैं, "देखिए यह बड़ा मुश्किल काम है. गाना बनाना तो मुझे आता है, क्योंकि मैं शुरू से ही संगीत में रुचि रखती रही हूं, लेकिन खाना बनाना ज़रा मुश्किल चीज़ है."

इमेज कॉपीरइट C.B. Arun Kumar

सावन बताती हैं कि गाना बनाते समय बड़ा ध्यान रखना पड़ता है कि गाने के बोल मिलाने के लिए इस्तेमाल किए गए शब्द खाने की रेसिपी न खराब कर दें.

वो कहती हैं, "आपको सोचना पड़ता है कि गाना तो आप लिख लेंगे, संगीत भी आ जाएगा, लेकिन इस गाने के बाद जो खाना बनेगा वो खाने लायक होगा या नहीं. और इसलिए मेरा काम मुश्किल हो जाता है."

नोटबंदी पर संगीतमय श्रद्दांजलि

सावन के व्लॉग में वो खाने के अलावा और भी बहुत सारी चीज़ों पर बात करती हैं. जैसे हाल ही में उन्होनें एमस्टरडम शहर के बारे में गाना लिखा, वो बोरोलीन पर गा चुकी हैं और 500 व 1000 के पुराने नोटों को भी संगीतमय श्रद्दांजली दे चुकी हैं.

एक बंगाली महिला की वेशभूषा में 'माछेर झोल' बनाती और गाना गाती सावन का 'फ़ूड वीडियो' उनके बनाए वीडियोज़ में सबसे ज़्यादा बार देखा गया है.

इन वीडियोज़ को तैयार करने में जो चैलेंज है, उसके बारे में बात करते हुए सावन कहती हैं, "इस काम में बड़ी मुश्किल आती है क्योंकि आप गाते हुए खाना बनाने के दौरान कोई स्टेप भूल नहीं सकते. अगर ऐसा हुआ, तो आपको फिर से शुरुआत करनी होगी."

इमेज कॉपीरइट Sawan Dutta

उदाहरण के लिए वो बताती हैं कि अगर गीत में पानी डालने की लाईन आने वाली हो और आपने पानी पहले ही डाल दिया हो, तो दोबारा पानी डालने के चक्कर में आपका खाना बर्बाद हुआ समझिए.

सावन मानती हैं कि फ़ूड वीडियो की पहली शर्त यही है कि वीडियो के अंत में खाना बढ़िया बनना चाहिए, वर्ना लोग आपको नकार देंगे.

कैमरे के काम को अगर छोड़ दें तो गाना लिखने, गाने, संगीत देने से लेकर खाना बनाने तक का सारा काम सावन खुद ही करती हैं.

सावन के घर में संगीत को करियर बनाने वाली वो पहली हैं. वो इंडियन ओशियन बैंड के साथ काम कर चुकी हैं. लेकिन अपने व्लॉग को सावन अपनी छाप छोड़ने का सबसे अहम माध्यम मानती हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे