हिंदी फिल्मों का 'आई लव यू' से ब्रेकअप हो गया है?

इमेज कॉपीरइट Wales News Service

हिन्दी फ़िल्में चाहे किसी भी शैली की हों - ऐक्शन , कॉमेडी या हॉरर - उनमें एक लव स्टोरी तो होती ही थी.

लेकिन अब लगता है जैसे हिंदी सिनेमा का 'आई लव यू' से ब्रेक अप हो गया है.

2016 की कुछ बेहतरीन फ़िल्में हिंदी सिनेमा के बदलते चलन का आईना लगती हैं.

'ख़ुद को' देख रो पड़ीं सोनम कपूर

'डियर ज़िंदगी' का रिव्यू: ज़िंदगी की जंग है 'डियर ज़िंदगी'

आमिर ख़ान फ़िल्म बेचने में शातिर ख़ान

ई दुनिया, नई प्रायोरिटी

वो वक़्त चला गया है जब हीरो हीरोइन पेड़ के इर्द गिर्द नाचा करते थे. जहाँ लड़का लड़की के पीछे भागता था, अब वो करियर पर ध्यान देता है.

"एम.एस.धोनी- दी अनटोल्ड स्टोरी" में कहानी का फ़ोकस लव स्टोरी नहीं, क्रिकेटर धोनी की ज़िंदगी थी.

इमेज कॉपीरइट Spice

शाहरूख़ ख़ान और आलिया भट्ट की "डियर ज़िंदगी" में प्यार का कोई ऐंगल ही नहीं था.

नोटबंदी के ज़रिए टीआरपी बटोरने की कोशिश

वहीं "फ़ैन" बेशक बहुत बड़ी हिट नहीं थी लेकिन इसने ये ज़रूर साबित किया कि अब शाहरूख़ जैसे सितारे भी एक्स्पेरीमेंट के लिए तैयार हैं. इसमें तो लड़के ने लड़के का पीछा किया.

इमेज कॉपीरइट PEN INDIA LIMITED

ब्रेकअप का जश्न

करण जौहर की फ़िल्म- "ऐ दिल है मुश्किल" में तो बक़ायदा ब्रेकअप को जश्न में तब्दील किया गया, जहाँ अनुष्का शर्मा का किरदार अपने ब्रेक अप से खुश था.

वहीं आलिया भट्ट ने "डियर ज़िंदगी" में ब्रेक अप के बाद ज़िंदगी को कहा "जस्ट गो टू हेल".

इमेज कॉपीरइट AIRLIFT- T SERIES

साल की शुरुआत में आई "नीरजा" में सोनम कपूर ने अकेले ही फ़िल्म को संभाला.

विद्या बालन की "कहानी 2" में भी हीरो का कोई अता-पता नहीं था.

इमेज कॉपीरइट RASHMI SHARMA TELEFILMS

अमिताभ बच्चन की फ़िल्म "पिंक" में भी कोई प्रेम कहानी नहीं थी.

इस हफ्ते की रिलीज़ आमिर ख़ान की "दंगल" में भी कोई लव स्टोरी नहीं है.

बदलते पोस्टर्स

हिंदी फ़िल्मों के बदलते फ़ोकस की कहानी इस साल रिलीज़ हुई फिल्मों के पोस्टर्स में भी दिखाते हैं.

"रुस्तम","एयरलिफ्ट","नीरजा", "एम.एस.धोनी- दी अनटोल्ड स्टोरी" - सब में या तो सिर्फ़ हीरो था या सिर्फ़ हीरोइन.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे