भंसाली के समर्थन में आई 'पद्मावती'

इमेज कॉपीरइट Deepika Padukone, Twitter

फ़िल्म निर्देशक संजय लीला भंसाली पर राजस्थान की राजधानी जयपुर में हुए हमले के बाद उनके फ़िल्म 'पद्मावती' के कलाकार उनके समर्थन में सामने आए हैं.

फ़िल्म में रानी पद्मावती की भूमिका निभा रही दीपिका पादुकोण ने ट्वीट किया, "कल जो कुछ हुआ उससे मुझे दुख हुआ है. मैं फिलहाल सदमे में हूं."

गुरुवार को राजस्थान में फ़िल्म की शूटिंग के दौरान भंसाली पर करणी सेना के कार्यकर्ताओं के हमला किया था. उनका आरोप है कि भंसाली ने इतिहास के तथ्यों के साथ छेड़छाड़ की है और पर्दे पर रानी पद्मावती और अलाउद्दीन खिलजी के बीच प्रेम दिखाया है जो ग़लत है.

दीपिका ने दो और ट्वीट किए और लिखा, "पद्मावती के तौर पर मैं आपको बता सकती हूँ कि इतिहास के तथ्यों के कहीं कोई छेड़छाड़ नहीं हुई है. हमारी कोशिश है कि हम इस साहसी और ताकतवर महिला की कहानी दुनिया के सामने उसके मूल रूप में लेकर आएं."

क्या इतिहास में कोई पद्मावती थी भी?

'हिंदू आतकंवाद अब मिथक नहीं रहा'

दीपिका पादुकोण भंसाली की फ़िल्म 'पद्मावती' में रानी पद्मावती का किरदार निभा रही हैं.

फ़िल्म में दिल्ली सल्तनत के बादशाह अलाउद्दीन खिलजी की भूमिका निभा रहे रणवीर सिंह ने कई ट्वीट किए. उन्होंने घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताया और कहा, "एक टीम के तौर पर हम राजस्थान और राजपूतों की संवेदनशीलता और भावनाओं को नज़र में रखकर ही फ़िल्म बना रहे हैं."

फ़िल्म पद्मावती के सेट पर भंसाली के साथ मारपीट

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा, "संजय जी भारत से सबसे जाने-माने और बेहतरीन फ़िल्म निर्देशकों में से एक हैं और वो किसी की भावनाओं को आहत नहीं करेंगे."

अभिनेता शाहिद कपूर ने भी कई ट्वीट किए और कहा कि इस घटना के बारे में जानकर उन्हें दुख पहुंचा है.

उन्होंने ट्वीट किया, "एक समाज, एक देश और इस देश के नागरिक के तौर पर हमें अपने अंदर झांकना चाहिए. हम किस दिशा में जा रहे हैं."

'भंसाली ने इतिहास बदला, लोगों ने भूगोल'

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा, "संजय लीला भंसाली ऐसे निर्देशक हैं जिन पर देश को गर्व होना चाहिए. जब आप पद्मावती देखेंगे तो आपको एहसास होगा कि वो इस किरदार में कितना आत्मसम्मान ले आए हैं."

उन्होंने यह भी लिखा कि उनका एकमात्र दुख यह है कि इस घटना के समय वो उनके साथ नहीं थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे