भारी पड़ गई ऑस्कर की वो ऐतिहासिक भूल

  • 2 मार्च 2017
ऑस्कर अवॉर्ड्स इमेज कॉपीरइट Getty Images

ऑस्कर पुरस्कारों की घोषणा के दौरान हुई गड़बड़ी के लिए दो कर्मचारियों को ज़िम्मेदार ठहराते हुए एकेडमी ने कहा है कि भविष्य में अब उनकी सेवा नहीं ली जाएगी.

एकैडमी के अध्यक्ष शेरिल बून आइजैक्स ने कहा है कि अकाउंटेंसी फ़र्म प्राइस वॉटर हाउसकूपर्स (पीडब्ल्यूसी) के साथ संबंधों की भी समीक्षा की जा रही है.

इस ग़लती के लिए ब्रायन कुलिनन और मार्था रूज़ को ज़िम्मेदार ठहराया गया है.

बीते रविवार को 89वें ऑस्कर अवॉर्ड्स समारोह में पहले 'ला ला लैंड' को सर्वश्रेष्ठ फिल्म बताया गया. बाद में कहा गया कि ग़लती हो गई, 'मूनलाइट' सर्वश्रेष्ठ फिल्म है.

वो महिला जिसे पता है कौन है ऑस्कर विजेता

ऑस्कर के ऐतिहासिक भूल वाले ड्रामे के पीछे कौन?

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption ग़लती से 'ला ला लैंड' फ़िल्म के नाम की घोषणा के बाद वॉरेन बेटी सही फ़िल्म 'मूनलाइट' के नाम वाले कार्ड के साथ.

इस गड़बड़ी को एकैडमी अवॉर्ड्स के 89 साल के इतिहास की सबसे बड़ी ग़लती बताया जा रहा है.

कलिनन ने नामों की घोषणा करने वाले दो प्रजेंटर्स को सर्वश्रेष्ठ फ़िल्म के नाम वाले लिफ़ाफ़े की जगह लीडिंग रोल में सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के लिए चुने गए नामों का लिफ़ाफ़ा पकड़ा दिया था.

सोशल मीडिया में ऑस्कर में हुई ग़लती पर जमकर चुहलबाज़ी

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption फ़िल्म मूनलाइट के निर्देशक बेरी जेन्किंस.

वोटों की गिनती और लिफ़ाफ़ों की ज़िम्मेदारी संभालने वाली फ़र्म पीडब्ल्यूसी ने इस गड़बड़ी के लिए माफी मांगी है.

कलिनन ने ग़लत लिफ़ाफ़ा पकड़ाने के कुछ मिनट पहले ही सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री एमा स्टोन की तस्वीर ट्वीट की थी जबकि बून आइजैक्स पर इस ग़लती के लिए 'ध्यान भटकाने' का आरोप है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे